दिल्ली में चलती बस में हुआ कत्ल: गाली देने पर कंडक्टर ने हेल्पर को मार दी गोली

News

ABC NEWS: दिल्ली की सड़क पर दौड़ती एक बस में कत्ल हो गया. बस के कंडक्टर ने मामूली झगड़े के बाद हेल्पर की गोली मारकर त्या कर दी. दिल्ली और मध्य प्रदेश के बीच चलने वाली प्राइवेट बस में हुए वारदात के बाद पुलिस ने 26 साल के कंडक्टर और ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है किसी बात पर झगड़े के दौरान हेल्पर रूप सिंह यादव (45) ने गाली दे दी, जिसके बाद कंडक्टर अमित पटेरिया ने उसे गोली मार दी. सराय काले खान बस टर्मिनल के पास हुए वारदात के बाद कंडक्टर और ड्राइवर ने नई कहानी भी रची लेकिन उनकी पोल खुल गई.

डीसीपी (साउथ ईस्ट) राजेश देव ने बताया कि ड्राइवर की पहचान आजाद खान के रूप में हुई, जिसने देसी पिस्टल को यमुना खादर में छिपाने में मदद की और पुलिस को गुमराह करते हुए बताया कि गोली बाहर से किसी ने चलाई. उन्होंने पुलिस को बताया कि किसी ने बाहर गोली चलाई जो एक खुली खिड़की से अंदर आई और हेल्पर को लग गई। यह तब हुआ जब बस सराय काले खान फ्लाइओवर से कश्मीरी गेट की तरफ जा रही थी.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान ड्राइवर ने खुलासा किया कि हेल्पर और कंडक्टर के बीच मामूली बात को लेकर झगड़ा हुआ था. इस दौरान यादव ने कंडक्टर को गालियां दी. इससे क्रोधित होकर पटेरिया ने ड्राइवर के केबिन से पिस्टल निकाला और यादव पर गोली चला दी, जो उस वक्त ड्राइवर की केबिन में था. गोली यादव की छाती से घुसी और बांह के नीचे से निकल गई। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

डीसीपी ने बताया कि यादव की मौत के बाद पटेरिया और ड्राइवर खान घबरा गए. उन्होंने इसे अलग रूप देने के लिए कहानी रची। वह शव के साथ बस को यमुना खादर की ओर ले गए और यहां झाड़ियों में पिस्टल को छिपा दिया. इसके बाद वे सराय काले खां फ्लाईओवर की ओर वापस आए और पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी. उन्होंने बताया, ‘पटेरिया ने सुबह करीब 7:30 पर कॉल किया और बताया कि किसी ने बस पर फायरिंग कर दी जिसमें हेल्पर की मौत हो गई है. पुलिस मौके पर पहुंची तो पाया कि वह केबिन में लंबी सीट पर पड़ा हुआ था.’

पुलिस ने कहा कि पूछताछ के दौरान कंडक्टर और ड्राइवर अपना बयान बदल रहे थे. इसके अलावा जहां गोली लगी और जहां से निकली उसे देखकर भी पुलिस को दोनों के दावे पर शक हुआ. पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज को जांचा तो पता चला कि बस सराय काले खां से निकलने के बाद फिर वहीं लौटी थी.  दो सीसीटीवी कैमरों के बीच बस 10 मिनट में आई, जबकि यह 2 मिनट का सफर था. इससे पुलिस को शक हुआ कि बस कहीं बीच में रुकी थी। सबूत दिखाकर पूछताछ के दौरान दोनों ने सच्चाई को स्वीकार कर लिया.

दोनों ने पुलिस को बताया कि बुधवार को वे मध्य प्रदेस के छतरपुर से निकले थे. गुरुवार सुबह उन्होंने सराय काले खां में सुबह सात बजे सवारियों को उतार दिया था. इसके बाद बस कश्मीरी गेट के लिए निकली थी. फ्लाइओवर के पास दोनों के बीच झगड़ा हो गया. वह तेजी से केबिन में गया और बॉक्स में रखे पिस्टल को निकालकर हेल्पर को गोली मार दी.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media