तरनतारन अटैक के पीछे खालिस्तानी आतंकियों का हाथ, ISI ने स्लीपर सेलों के जरिए की थी प्लानिंग!

News

ABC NEWS: पंजाब के तरनतारन के सरहाली पुलिस स्टेशन पर देर रात RPG (रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रैनेड) अटैक में खालिस्तान समर्थक आतंकियों का हाथ बताया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के इशारे पर खालिस्तान समर्थक आतंकियों ने पंजाब में सक्रिय अपने स्लीपर सेलों के माध्यम से इस घटना को अंजाम दिया है.

ये हमला सरहाली में किया गया है. ये वही जगह है जहां कुख्यात गैंगस्टर हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा का पैतृक घर है. हालांकि सूत्रों से जानकारी मिली थी कि पिछले दिनों रिंदा की पाकिस्तान में मौत हो गई थी.

सूत्रों की मानें तो पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई रिंदा के टेरर को कायम रखना चाहती है. इसी वजह से माना जा रहा है कि सांकेतिक तौर पर ये अटैक किया गया है. दरसअसल, कुख्यात आतंकी रिंदा खालिस्तान समर्थक था. लिहाजा उसके खौफ को बनाए रखने का प्रयास किया गया है.

मोहाली में भी हुआ था अटैक

इससे पहले मोहाली में पंजाब के इंटेलीजेंस के ऑफिस पर भी आरपीजी अटैक हुआ था. अब इसी तर्ज पर तरनतारन के सरहाली में हमला हुआ है. हमले के बाद पंजाब की पुलिस अलर्ट हो गई है. पंजाब के डीजीपी सरहाली के लिए रवाना हो गए हैं.

बीजेपी ने साधा सीएम मान पर निशाना

वहीं, बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस हमले के बाद पंजाब की भगवंत मान सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि तरनतारन में अमृतसर-बठिंडा हाईवे पर स्थित सरहाली में पुलिस स्टेशन पर रॉकेट लॉन्चर से अटैक किया गया है. लेकिन AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल के फरमान पर भगवंत मान गुजरात और दिल्ली में व्यस्त हैं. साथ ही कहा कि सरकार से उम्मीद है कि पंजाब में शांति और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएं.

इंटेलीजेंस एजेंसियों ने किया कन्फर्म

इस हमले को लेकर इंटेलीजेंस एजेंसियों ने भी कन्फर्म किया है. आशंका ये भी जताई जा रही है कि डायरेक्ट हिट न होने की वजह से इसका असर कम हुआ है. बताया जा रहा है कि मोहाली में पंजाब इंटेलीजेंस के ऑफिस में जिस तरह से हमला हुआ था, ये अटैक भी वैसा ही है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media