कानपुर में डेंगू के मरीजों ने छुआ रिकॉर्ड का आंकड़ा, बिल्हौर सीओ भी बीमार

Spread the love

ABC NEWS: कानपुर में डेंगू का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में सोमवार को शहर में 42 नए डेंगू के मामले सामने आए. जीएसवीएम मेडिकल कालेज की लैब से 16 और उर्सला की लैब से 26 मरीजों में डेंगू की पुष्टि की गई जिसके चलते एलएलआर अस्पताल और उर्सला अस्पताल की ओपीडी और इमरजेंसी सेवा में दिनभर मरीजों का तांता लगा रहा है.

मेडिसिन के साथ त्वचा रोग और बाल रोग के विशेषज्ञों को दिखाने के लिए लंबी-लंबी कतार उनके कक्ष के बाहर लगी रही. तेजी से बढ़ते मामलों के चलते एलएलआर अस्पताल के बालरोग और मेडिसिन में रिकार्ड संख्या में भर्ती मरीजों का आंकड़ा पहुंच गया है. सरकारी अस्पतालों में डेंगू के लक्षण लेकर जांच कराने वालों की संख्या भी काफी बढ़ी दिखी.

सीएमओ डा. आलोक रंजन ने बताया कि सोमवार को किसी भी मरीज की मृत्यु डेंगू से नहीं हुई है.  उर्सला और जीएसवीएम मेडिकल कालेज की लैब में 240 सैंपल में 42 में डेंगू की पुष्टि हुई है. इसमें शहर के 19 और आस-पास के जिलों के 23 मरीज पाए गए हैं. उन्होंने बताया कि डेंगू के लिए एलएलआर अस्पताल में 40, उर्सला में 35, कांशीराम चिकित्सालय में 20 और केपीएल में आठ बेड सुरक्षित किए गए हैं. स्वास्थ्य विभाग की ओर से शहर और आस-पास के जिलों में जाकर डेंगू से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है.

त्वचा, मेडिसिन और बाल रोग की ओपीडी में रही लक्षण युक्त मरीजों की भरमार

एलएलआर अस्पताल की ओपीडी में सोमवार को त्वचा, मेडिसिन और बाल रोग में सबसे ज्यादा मरीज डेंगू के लक्षण लेकर पहुंचे। लक्षण युक्त मरीजों में गंभीर लक्षण वालों को वार्ड में भर्ती कर उपचार शुरू किया गया वहीं, ज्यादातर मरीजों को दवा और उचित परामर्श विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम ने दिया. सोमवार को डेंगू की जांच के लिए एलएलआर अस्पताल के जांच केंद्र में भी लंबी कतार देखने को मिली.

मरीजों के तीमारदार सैंपल लेकर जांच केंद्र और जांच शुल्क पटल के बाहर खड़े रहे. दोपहर 12 बजे कुछ देर के लिए सर्वर की समस्या से यह कतार और लंबी हो गई। त्वचा रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डा. डीपी शिवहरे ने बताया कि डेंगू के लक्षण लेकर कई मरीज आ रहे हैं जिनकी त्वचा शुष्क हो रही है. उन्हें तत्काल मेडिसिन के विशेषज्ञ और इमरजेंसी के लिए भेजा गया। बच्चों में ऐसे मामले काफी संख्या में देखने को मिले.

इमरजेंसी में तैनात रही डाक्टरों की टीम, बालरोग और मेडिसिन बढ़े बेड 

प्राचार्य प्रो. संजय काला ने बताया कि डेंगू के डंक से बचाने के लिए लक्षण युक्त मरीजों के लिए इमरजेंसी में डाक्टरों की टीम को तैनात किया गया है. जो लक्षण युक्त मरीज को प्राथमिकता पर इलाज दे रही है. उन्होंने बताया कि मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए बालरोग और मेडिसिन विभाग में बेड की संख्या को बढ़ाया गया है. रिकार्ड संख्या में मरीज आने से डाक्टरों की पूरी टीम मरीजों की निगरारी कर रही है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media