ताइवान ने भारत का किया शुक्रिया, बोला-अपनी आत्मरक्षा क्षमताओं को बढ़ाना जारी रखेंगे

Spread the love

ABC News: चीन के साथ ताइवान का तनाव जारी है. चीन लगातार सैन्य अभ्यास कर रहा है. भारत (India) भी हाल के घटनाक्रमों से चिंतित है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने 12 अगस्त को कहा, ‘भारत ने ताइवान जल क्षेत्र में यथास्थिति को बदलने के लिए एकतरफा कार्रवाई से बचना चाहिए’. साथ ही क्षेत्र में शांति और स्थिरता बनाए रखने के प्रयास किए जाने चाहिए. ताइवान ने इस प्रतिक्रियां पर भारत का धन्यवाद किया है. ताइवान ने रविवार (14 अगस्त) को कहा, वह भारत समेत सभी समान विचारधारा वाले देशों के साथ घनिष्ठ समन्वय बनाए रखते हुए अपनी आत्मरक्षा क्षमताओं को बढ़ाना जारी रखेगा, ताकि संयुक्त रूप से नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था और सुरक्षा की रक्षा की जा सके.

ताइवान ने कहा, वह दुनिया भर के देशों के साथ दोस्त बनाने और संबंध बनाए रखने का हकदार है. इसमें कहा गया है कि हाल ही में ताइवान पर लक्ष्य बनाकर कई प्रकार के सैन्य रुख के चीन के जानबूझकर उग्र होने से ताइवान जल क्षेत्र में शांति और स्थिरता प्रभावित हुई है. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘आरओसी (ताइवान) की सरकार भारत समेत 50 से अधिक देशों की कार्यकारी शाखाओं और सांसदों के प्रति आभार व्यक्त करना चाहती है, जिन्होंने सभी पक्षों से संयम बरतने, तनाव कम करने, यथास्थिति को बदलने के लिए एकतरफा कार्रवाई से बचने की अपील की है. ताइवान की सरकार अमेरिका, जापान और भारत समेत अन्य सभी समान विचारधारा वाले देशों के साथ घनिष्ठ कम्युनिकेशन और समन्वय बनाए रखते हुए अपनी आत्मरक्षा क्षमताओं को बढ़ाना जारी रखेगी, ताकि संयुक्त रूप से नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था को बनाए रखा जा सके और सुरक्षा की रक्षा की जा सके. ताइवान हिंद-प्रशांत में शांति, स्थिरता और समृद्धि को मजबूत करता है. इस हफ्ते की शुरुआत में चीन ने स्व-शासित द्वीप पर अपने दावों को दोहराते हुए ताइवान और नए युग में चीन का पुनर्मिलन शीर्षक से एक श्वेत पत्र जारी किया.
चीनी राज्य मीडिया ने कहा, श्वेत पत्र राष्ट्रीय पुनर्मिलन के लिए देश के संकल्प को प्रदर्शित करता है. श्वेत पत्र में कहा गया है कि चीनी समुदाय पार्टी ताइवान के मुद्दे को हल करने और चीन के पूर्ण एकीकरण को साकार करने के ऐतिहासिक मिशन के लिए प्रतिबद्ध है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media