Kanpur Accident: पूरे गांव में मातम का माहौल, लाशें देखकर सिहर उठे लोग, गम और गुस्सा

Spread the love

ABC News : साढ़ थानाक्षेत्र में बेकाबू ट्रैक्टर ट्राली पलटने से 26 मौतों के बाद शनिवार पूरी रात शवों का पोस्टमार्टम करने के बाद रविवार सुबह कोरथा गांव पहुंचाए गए. 10 घायल हैलट अस्पताल में भर्ती हैं. रातभर घाटमपुर तहसील के भीतरगांव CHC में शवों का पोस्टमॉर्टम चला. 26 लाशों के पोस्टमॉर्टम के लिए 10 डॉक्टरों की टीम को लगाया गया. पोस्टमॉर्टम के बाद एक-एक करके सुबह 4 बजे तक शवों को कोरथा गांव लाया गया.

300 घरों के कोरथा गांव में एंट्री करते ही पहले भीड़ के बावजूद सन्नाटा, और फिर सिर्फ रोने और चीखने की आवाजें आ रहीं हैं. 8 घरों के बाहर लाशें रखी हुईं हैं. गांव में रहने वाले रामदुलारे का घर भी इनमें से एक है. उनके घर के बाहर 6 लाशें रखी हुईं हैं. गांव में एक जगह 26 शवों के लिए अर्थियां तैयार की जा रही है. उधर, हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं. हादसे में बचने वालों में गांव का वीरेंद्र भी है. जबदरस्त गुस्से में हैं. वह ट्रैक्टर ट्राली में बैठा हुआ था। वीरेंद्र कहते हैं, “जिस राजू निषाद के बच्चे का मुंडन था. बेटा एक साल का हो रहा था. उसी ने उन्नाव बक्सर के चंद्रिका देवी मंदिर में मुंडन संस्कार का आयोजन किया था. वही शराब पीकर ट्रैक्टर चला रहा था. अंधी रफ्तार से गाड़ी चला रहा था. राजू ने उन्नाव में मंदिर जाने के दौरान शराब पी थी. फिर लौटते हुए भी चाय-नाश्ते के लिए गाड़ी रोकी थी. तब दोबारा शराब पी थी. मना करने के बावजूद ट्रैक्टर वही चला रहा था.” वह आगे कहते हैं, “साढ़ और गंभीरपुर गांव के बीच रास्ते में गड्‌ढा था. अचानक सामने से बाइक भी आ गई. ट्रैक्टर तेज रफ्तार में था. राजू काबू नहीं रख सका. फिर जाने राजू को क्या हुआ, एक तरफ ट्रैक्टर-ट्रॉली पलटाने लगा. महिलाएं और बच्चे तालाब में गिर गए.

मगर ड्राइवर राजू बच गया है. वह वहां से भाग गया. अगर मिल गया तो छोड़ेंगे नहीं, मार डालेंगे.” वह कहते हैं, “राजू शराब न पीता, तो शायद हादसा ही नहीं होता. हादसे का मुख्य आरोपी यानी ट्रैक्टर चला रहा राजू निषाद मौके से भाग निकला. जबकि उसकी पत्नी ज्ञानदेवी गंभीर हालत में हैलट में भर्ती हैं. हादसे के बाद से गांव के लोगों में राजू के प्रति जबरदस्त आक्रोश है. हादसे में किसी ने अपनी पत्नी को खो दिया तो किसी के बच्चे अनाथ हो गए, तो किसी के परिवार का इकलौता चिराग ही बुझ गया. पूरे गांव में मातम है. हर किसी की जुबान पर सिर्फ एक ही नाम था कि राजू की गलती से यह सब हुआ है. मिल जाए तो उसे जिंदा नहीं छोड़ेंगे. पुलिस की एक टीम भी राजू को तलाशने के लिए लगा दी गई है. राजू के खिलाफ FIR भी दर्ज की जाएगी.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media