कौन हैं गुरलीन चावला जिन्‍होंने बदल दी बुंदेलखंड की तस्‍वीर? PM मोदी ने भी की तारीफ

ABC NEWS: उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड (Bundelkhand) में स्ट्रॉबेरी की खेती कर गुरलीन चावला (Gurleen Chawla) ने सबको चौंका दिया है. झांसी की रहने वाली गुरलीन चावला ने स्ट्रॉबेरी (Strawberry) की खेती प्रायोगिक तौर पर शुरू की थी. पुणे के प्रतिष्ठित लॉ कालेज से एलएलबी की पढ़ाई कर रही गुरलीन को लॉकडाउन के कारण झांसी आना पड़ा. स्ट्रॉबेरी खाने की शौकीन गुरलीन ने अपने घर के गमलों में स्ट्राबेरी के कुछ पौधे लगाए. इसके अच्छे नतीजे आने पर उन्होंने पिता के फार्म हाउस पर लगभग डेढ़ एकड़ क्षेत्रफल में स्ट्राबेरी की खेती शुरू की.
अब माना जा रहा है कि इससे इस इलाके की सूरत बदलने के आसार हैं. इसीलिए उत्तर प्रदेश सरकार स्ट्रॉबेरी की खेती को बढ़ावा दे रही है. इसी मकसद से उत्तर प्रदेश सरकार ने झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन किया है. यह महोत्सव 17 जनवरी को शुरू हुआ था. यह 16 फरवरी तक चलेगा.
बता दें कि झांसी में पहली बार स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन किया गया जोकि 17 जनवरी से 16 फरवरी तक चलेगा. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से स्ट्रॉबेरी महोत्सव का शुभारंभ करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि झांसी में हुआ स्ट्रॉबेरी का उत्पादन और यहां हो रहा स्ट्रॉबेरी महोत्सव चमत्कार से कम नहीं है. बुंदेलखंड के बारे में प्रदेश और देश की जो धारणा थी उसे बदलने में यह महोत्सव के अहम भूमिका निभाएगा. यहीं नहीं झांसी में हुई स्ट्रॉबेरी की खेती बुंदेलखंड को एक नई पहचान दिलाने का काम करेगी.

स्ट्रॉबेरी की खेती को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधन में कहा था कि आज यह भी तय हो ही गया कि बुंदेलखंड में सब कुछ है. झांसी में स्ट्रॉबेरी का उगाना जाना तो हमारे बुंदेलखंड के किसानों के परिश्रम का परिणाम है. मैं इसके लिए सभी किसान बंधुओं को हृदय से बधाई देता हूं. मुख्यमंत्री के अनुसार, स्ट्राबेरी की खेती और मार्केटिंग पर लखनऊ में केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान (CISH) भी बेहतरीन काम कर रहा है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media