चोरों को रात में नहीं आई नींद, दिखे डरावने सपने, डरकर लौटाई मूर्तियां

ABC News: चित्रकूट के सदर कोतवाली क्षेत्र के तरौहां में बालाजी मंदिर से मूर्तियों की चोरी का अनोखा मामला सामने आया है. पूरा मामला जानने के बाद लोग कह रहे हैं कि भगवान की भी लीला अपरंपार है. क्योंकि चोरी के बाद चोर रात में मूर्तियां पुजारी के घर के बाहर वापस रख गए और एक पत्र भी छोड़ गए. पत्र में चोरों ने चोरी के बाद व्याप्त डर के बारे में लिखकर माफी भी मांगी है.

सदर कोतवाली क्षेत्र के तरौहां में बने प्राचीन बालाजी मंदिर से नौ मई को अष्ट धातु, पीतल और तांबे की 16 मूर्तियां चोरी हुई थीं. मंदिर का ताला तोड़कर चोर अष्टधातु से बनी 5 किलो की भगवान श्रीराम की मूर्ति, पीतल की राधाकृष्ण की मूर्ति, बालाजी की मूर्ति और लड्डू गोपाल की मूर्ति समेत नकदी और चांदी का सामान चोरी कर ले गए थे. चोरी के दो दिन बाद 12 मूर्तियां और एक पत्र मानिकपुर कस्बे में महावीर नगर वार्ड स्थित पुजारी के घर के बाहर मिलीं. उन्होंने मूर्तियां पुलिस को सौंप दी हैं. मंदिर के महंत राम बालक दास ने बताया कि सुबह जब वह जागे और गायों को चारा-पानी देने निकले तो एक चिट्ठी मिली. उसमें मंदिर से चोरी गई मूर्तियों का जिक्र था. चिट्ठी पढऩे के बाद खोज की तो मूर्तियां घर के बाहर एक टोकरी में बोरी के अंदर मिलीं. इसमें पीतल व तांबे की 12 मूर्तियां थीं लेकिन अष्ट धातु की दो मूर्तियां नहीं थीं. मूर्ति लौटाने वाले चोरों ने पुजारी के नाम एक पत्र छोड़ा था, जिसमें मूर्ति वापस करने की वजह लिखी थी. लिखा था- ‘मूर्ति चोरी करने के बाद से उन्हें रात में नींद नहीं आ रही और डरावने सपने आ रहे हैं, इसलिए मूर्तियां वापस कर रहे हैं. मूर्तियों को आप दोबारा मंदिर में स्थापित करवा दें’. महंत ने बताया कि उन्होंने कोतवाली पुलिस को मूर्तियां सौंप दी हैं. सीओ सिटी शीतला प्रसाद पांडेय ने बताया कि चोर 12 मूर्ति लौटा गए हैं. लगता है कि मंदिर में अष्टधातु की मूर्तियां नहीं थीं. यदि वह भी चोरी गई होती तो उसको भी चोर वापस कर जाते.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media