गर्मियों में होती है खुजली और रैशेज, तो इस तरह कर सकते हैं पाइन ऑयल का इस्तेमाल

ABC News: आमतौर पर जब हम पाइन ट्री असेंशियल ऑयल की बात करते हैं तो हमारी जेहन में एक सोंधी खुशबूदार रूम फ्रेशनर आता है. लेकिन पिछले कुछ समय से इसका प्रयोग मेडिकेटेड ऑयल के रूप में भी खूब प्रयोग किया जा रहा है.  हेल्‍थलाइन के मुताबिक, इसके कई हेल्‍थ से जुड़े फायदे हैं. हालांकि इसका प्रयोग प्राचीन आयुर्विज्ञान में बहुत पहले से किया जाता रहा है. इसका सबसे ज्‍यादा इस्तेमाल सूजन को कम करने और स्किन पर होने वाली खुजली आदि को शांत करने के‍ लिए किया जाता है. आइए जानते हैं कि पाइन ट्री ऑयल के अन्‍य क्‍या फायदे हैं.गरमी और बरसात के मौसम में त्वचा इन्फेक्शन आम बात है.

ऐसे में स्किन पर होने वाली खुजली जैसी समस्या को दूर करने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है. इस तेल में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो सूखे और खुजली युक्त चकत्तों को आसानी से दूर करते हैं. इसके इस्तेमाल से फंगस की समस्या को भी दूर की जा सकती है. अगर स्किन जल गई हो तो इसे जल्दी से ठीक करने के लिए भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.
इसमें एंटी इन्फ्लामेट्री गुण होते हैं जो सूजन कम करने के लिए खास रूप से प्रयोग किया जा सकता है. जहां पर भी सूजन हुई हो वहां आप इस तेल से नियमित मसाज करें कुछ ही देर में सूजन में आराम दिखेगा. आप इसे नारियल या किसी अन्‍य तेल के साथ मिलाकर प्रयोग करें.अगर आपको भूख नहीं लगती तो इस ऑयल का आप प्रयोग करें. यह तेल भूख बढ़ाने के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है. इसके इस्तेमाल से वजन भी कम किया जा सकता है. इसका प्रयोग आप डिफ्यूजर के रूप में कर सकते हैं. डिफ्यूजर के पानी में कुछ बूंद इस तेल को डालें. अगर आपके पास डिफ्यूजर नही है तो आप इसे इनहेलर की तरह भी प्रयोग कर सकते हैं. आप अपने रुमाल पर कुछ बूंद ऑयल डालें और चेहरे के सामने रखकर गहरी सांस लें.आप इसे अन्‍य तेल जैसे कोकोनट ऑयल के साथ मिलाकर मसाज भी कर सकते हैं. इसके अलावा, नहाने के गर्म पानी में इसकी कुछ बूंद डालकर भी इससे नहाया जा सकता है. लेकिन बेहतर होगा कि इसके प्रयोग से पहले एक बार पैच टेस्‍ट कर लें.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media