UP में स्वास्थ्य सेवाओं का सच:नसबंदी कराने आई महिला को चेन गिरवी रख चुकाने पड़े पैसे

ABC NEWS: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र (Sonbhadra) में घोरावल कोतवाली क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की उस वक्त शर्मनाक तस्वीर सामने आई, जब मंगलवार को शिविर में नसबंदी के बाद 108 नंबर एम्बुलेंस ड्राइवर (108 Ambulance Driver) ने महिला लाभार्थी को घर पहुंचाने के एवज में रुपयों की मांग की. महिला के पास पैसे नहीं थे, पर एंबुलेंस ड्राइवर नहीं माना, आखिरकार महिला को अपनी चांदी की चेन गिरवी रखकर निजी भाड़े पर पिकअप लेकर घर जाना पड़ा. इस दौरान करीब 8 घंटे तक महिला सीएचसी के बाहर जमीन पर पड़ी रही.
एंबुलेंस ड्राइवर 500 रुपए की मांग पर अड़ा रहा
कोलाडीह ग्राम निवासी लहरी पुत्र डंगर ने बताया कि उसकी बहू सितारा देवी पत्नी बृजेश का नसबंदी कराना था. मंगलवार को भोर में नसबंदी के बाद उसे एंबुलेंस से जाने के लिए आईडी भी जारी कर दिया गया. इसके बाद जब एम्बुलेंस से घर जाने के लिए ड्राइवर के पास पहुंचे तो उसने ले जाने के लिए 500 रुपए मांगे. परिजनों ने 300 रुपये देने की बात कही लेकिन चालक तैयार नहीं हुआ.
आखिरकार चेन गिरवी रखकर निजी भाड़े पर गए घर
जिसके बाद सितारा देवी ने अपना चांदी की चेन घोरावल नगर में किसी सुनार की दुकान पर चेन गिरवी रखकर 1500 रुपए लिए. फिर परिजनों ने एक पिकअप गाड़ी किराए पर ली और घर के लिए निकले. वहीं दूसरी घटना में कुसुम्हा निवासी चंद्रभान सिंह ने एम्बुलेंस चालक पर नसबंदी कराने वाली महिलाओं को घर पहुंचाने की एवज में 200-200 रुपए और अस्पताल परिसर में रहने वाले एक स्वास्थ्यकर्मी पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए अधीक्षक को शिकायती पत्र दिया है.
ड्राइवर पर कार्रवाई हो गई है: सीएमओ
इस सम्बंध में सीएमओ डॉ नेम सिंह ने फोन पर बताया कि इस तरह की घटना बेहद दुःखद है. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना क्षम्य नहीं है. घोरावल का प्रकरण संज्ञान में आते ही कार्रवाई कर दी गयी है और दोषी ड्राइवर को लखनऊ से सम्बद्ध कर दिया गया है.
बता दें नसबंदी के दौरान धन उगाही का यह कोई पहला मामला नहीं है, इसके पूर्व भी सीएचसी चोपन में नसबंदी कराने आयी कई लाभार्थी महिलाओं से पैसे की वसूली की गई थी. जिसमें अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई लेकिन घोरावल प्रकरण में तत्काल की गई कार्यवाही न सिर्फ लाभार्थियों से वसूली करने वालों में हड़कंप मच हुआ है. बल्कि लोगों में एक विश्वास जगा है कि शायद आगे से सिस्टम में सुधार होगा.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media