ताइवान ने किया चीन के खिलाफ जंग की तैयारी का ऐलान, सेना को यह कहा

ABC News: चीन लगातार ताइवान के हवाई क्षेत्र में अपने लड़ाकू विमान भेज रहा है. यहीं नहीं उसने दक्षिण चीन सागर में किए जा रहे चीनी ऑर्मी के युद्ध अभ्‍यास को भी ताइवान पर कब्‍जे की शुरुआत बताया. ऐसे में ताइवान ने मोर्चा संभालने हुए चीन के खिलाफ जंग की तैयारी का ऐलान करते हुए अपनी सेना को तैयार रहने को कहा है. शुक्रवार से चीनी लड़ाकू विमानों के ताइवान के करीब से गुजरने की कार्रवाई के बाद ऐलान किया है. ताइवान ने कहा कि अगर हमारी मिलिट्री पर फायरिंग हुई तो पलटवार में ज़रा भी देरी नहीं की जाएगी.’ ताइवान फुल स्केल पर युद्ध के लिए भी तैयार है.

ताइवान के वायु रक्षा पहचान क्षेत्र (ADIZ) में ताइवान एयर फोर्स की जबरदस्त लड़ाकू प्रशिक्षण चालू है, जिसमें उन्हें पहली फायरिंग से बचने और तुरंत जवाबी कार्रवाई की ट्रेनिंग दी जा रही है. चीन और ताइवान के बीच पहली फायरिंग नहीं करने का करार है. शुक्रवार और शनिवार को PLA एयर फोर्स के कई जंगी जहाज़ ADIZ में घुस आए थे. इसके बाद ताइवान के वायु सेना के लड़ाकू कमान ने अपने वायु फोर्स पायलट को ADIZ में घुसने वाले चीनी जंगी जहाजों के खिलाफ कार्रवाई की इजाज़त दे दी है.
आर्थिक विकास, ऊर्जा और पर्यावरण के लिए अमेरिका के अवर सचिव कीथ क्रैक को लेकर आग बबूला हुआ चीन लगातार ताइवान के खिलाफ हरकत करने में लगा हुआ है. क्रैच की यात्रा से पहले चीन ने चीन-अमेरिकी संबंधों को “गंभीर क्षति” की चेतावनी दी. इस यात्रा के आगे बढ़ने के बाद चीन ने वाशिंगटन के सामने एक शिकायत दर्ज की और कहा कि वह इसकी आवश्यक प्रतिक्रिया देगा. सूत्र के अनुसार, अगर ताइवान और चीन के बीच युद्ध छिड़ जाता है, तो सेना गुआम कॉम्बैट प्लान जैसे युद्धकालीन कार्यों को आरंभ कर देगी.

हालांकि, युद्ध और शांति के बीच ग्रे क्षेत्र में आने वाली स्थितियों से निपटने के लिए युद्ध तत्परता प्रोटोकॉल भी हैं. सूत्र ने कहा कि हाल ही में ताइवान के ADIZ के अतिक्रमण के मद्देनजर, सैन्य दृष्टिकोण यह है कि वे लापरवाही से काम न करें, क्योंकि उनके विरोधी आंदोलनों के पीछे सच्चे इरादों का न्याय करना असंभव है. पायलटों को अपने चीनी समकक्षों को उकसाने और युद्ध से दूर रहने वाली कार्रवाइयों से बचने के सिद्धांत पर काम करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है. अधिकारी ने कहा कि ताइवान और चीन दोनों ने घोषणा की है कि वे “पहली गोली नहीं चलाएंगे. लेकिन PLAAF विमान द्वारा हाल ही में आक्रामक व्यवहार को देखते हुए, इसका मतलब यह नहीं है कि ताइवानी लड़ाकू जेट किसी भी परिस्थिति में शॉट फायर नहीं करेंगे.” उन्‍होंने कहा, “आत्मरक्षा के लिए पलटवार करने के अधिकार का प्रयोग करने” का समय है. इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय कानून और अन्य मानदंडों पर पूर्ण विचार करने की आवश्यकता है, लेकिन “अगर हमारी सेना पर हमला किया जाता है, तो हम निश्चित रूप से वापस आग लगा देंगे.”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media