स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी और BJP सांसद संघमित्रा मौर्य बोलीं- पिता के खिलाफ नहीं करूंगी प्रचार…

ABC NEWS: बीजेपी (BJP) की सांसद संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) ने अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वह वहां पर प्रचार करने नहीं जाएंगीं जहां पर उनके पिता चुनाव लड़ रहे हैं. हमें पार्टी भेजेगी तो मैं शीर्ष नेतृत्व को स्पष्ट तौर पर बताऊंगी कि मैं वहां जाने में असमर्थ हूं. आप मुझे कहीं और भेज दें. वह पिछड़ों की बात पर अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य का समर्थन करती दिखीं। साथ ही कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में उनके पिता ने सपा का किला ढहा दिया था. बदायूं में अब लगातार दिख भी रहा है कि उसकी एक एक ईंट ध्वस्त हो चुकी है और आने वाले समय में पता भी नहीं चलेगा कि किला बना कहां का था. गौरतलब है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी से बगावत करते हुए समाजवादी पार्टी में शामिल हुए हैं.

मीडिया से बात करते हुए बीजेपी सांसद संघम़ित्रा मौर्य ने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ प्रचार करने के सवाल पर कहा कि मैं राजनीति में होते हुए भी बहुत हद तक स्पष्टवादी टाइप की हूं और मैं वहां पिताजी के खिलाफ चुनाव प्रचार करने नहीं जाउंगी. मैं वह काम नहीं कर सकती, जो कई बार लोग करते हैं. लोग साथ में किसी के घूमते हैं और पीछे किसी और की बात करते हैं. संघम़ित्रा ने कहा मेरा दो रवैया नहीं हो पाएगा. उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर यदि पिताजी जहां से चुनाव लड़ेंगे और हमें पार्टी भेजेगी तो मैं शीर्ष नेतृत्व को स्पष्ट तौर पर बताऊंगी कि मैं वहां जाने में असमर्थ हूं. आप मुझे कहीं और भेज दें. मैं वहां जाकर पार्टी का प्रचार करने को मना करूंगी, लेकिन पिताजी के खिलाफ प्रचार नहीं कर पाऊंगी.

पिछड़ों को लेकर पिता के बयान का समर्थन
पिछड़ों की बात पर जवाब देते हुए सांसद संघमित्रा मौर्य ने कहा कि पिताजी ने पिछड़ों को लेकर जो बात रखी है, मैं पूरी तरीके से खारिज भी नहीं कर सकती हूं. उसमें सच्चाई है. डॉक्यूमेंटरी प्रूफ ही. आरक्षण को नजरअंदाज किया गया है. अपनी ही सरकार पर टिप्पणी करते हुए संघमित्रा मौर्य ने कहा कि पिछड़ों को लेकर उनके आरोप सही थे. प्रधानमंत्री इस मामले में जरूर कुछ ना कुछ निर्णय लेंगे, क्योंकि यह बात उनके कानों तक पहुंच चुकी है.

पिता के बदायूं में प्रचार करने पर कोई आपत्ति नहीं
कुशीनगर सीट पर स्वामी प्रसाद मौर्य के चुनाव लड़ने पर संघमित्रा मौर्य ने कहा कौन वहां से लड़ेगा कौन नहीं लड़ेगा, अभी तक कोई स्थिति क्लियर नहीं है. भारतीय जनता पार्टी जिसको भी टिकट देगी वो निश्चित तौर पर पार्टी का अच्छा निर्णय होगा. हम पिता के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगे. हम स्पष्ट बात करने वालों में से हैं. उन्होंने कहा कि अगर स्वामी प्रसाद मौर्य बदायूं में चुनाव प्रचार करने आते हैं तो हमें कोई आपत्ति नहीं है. उन्हीं की मदद से और उनकी मेहनत से 2019 में सपा का किला ढहा दिया था. बदायूं में अब लगातार दिख भी रहा है कि सिर्फ किला ढहा नहीं है, उसकी एक एक ईंट ध्वस्त हो चुकी है और आने वाले समय में पता भी नहीं चलेगा कि किला बना कहां का था.

पिता और बेटी का अलग पार्टी में होना नया नहीं है
पिता दूसरी पार्टी में हो बेटी दूसरी पार्टी में यह हमारे और पिताजी के साथ में नहीं हो रहा है. राजनीतिक इतिहास गवाह है, बहुत से ऐसे परिवार हैं जिनको हम जानते हैं. एक ही परिवार में चार चार पार्टियां भी चली हैं.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media