पृथ्वी के बेहद करीब से गुजरेगा शनि, आसमान में आज दिखेगा अद्भुत नजारा

Spread the love

ABC NEWS: अगर आपकी दिलचस्पी खगोल विज्ञान में है तो आपके लिए आज का दिन बेहद खास होने वाला है. दरअसल आज सुबह 11 बजकर 30 मिनट पर शनि ग्रह  पृथ्वी (Saturn closet to Earth) के बेहद नज़दीक होगा. लिहाजा इस अद्भुत नजारे को खुली आंखों से भी देखा जा सकता है. इस दौरान सूर्य की परिक्रमा करता हुआ शनि, पृथ्वी और सूर्य तीनों एक तरफ रहते हुए सीधी रेखा में होंगे. आप इस नजारे को आज रात देख सकते हैं.

पृथ्वी को सूर्य की परिक्रमा करने में लगभग 365 दिन लगते हैं जबकि शनि को सूर्य की एक पूर्ण परिक्रमा पूरी करने में लगभग 29.5 वर्ष लगते हैं. पठानी सामंत तारामंडल के उप निदेशक डॉक्टर सुवेंदु पटनायक ने समाचार एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए कहा, ‘भारतीय समय के अनुसार, सुबह 11.30 बजे, शनि और पृथ्वी एक-दूसरे के सबसे करीब होंगे. भारत में ये दिन का समय होगा, लेकिन जहां भी रात होगी, वहां लोगों को एक चमकीला शनि दिखाई देगा.’

हर साल दिखता है ये नज़ारा
बता दें कि हर साल एक बार पृथ्वी और शनि अपने कक्ष में घूमते हुए एक-दूसरे के करीब आते हैं. 1 वर्ष और 13 दिनों के समय में, वे एक-दूसरे के सबसे करीब आते हैं. इससे पहले 20 जुलाई, 2020 को दोनों ग्रह एक दूसरे के करीब आए थे. इसके बाद 14 अगस्त 2022 को एक बार फिर से ये नजारा दिखने को मिलेगा.

कम होगी दूरी
जब दोनों ग्रह एक-दूसरे के बहुत करीब होंगे तो औसत दूरी लगभग 120 करोड़ किलोमीटर होगी. ये उनके बीच की अधिकतम दूरी की तुलना में 50 करोड़ किलोमीटर कम है जो कि 6 महीने बाद होती है जब शनि पृथ्वी के दूसरी तरफ होगा.

पिछले साल दिखा था नजारा
पिछले साल 21 दिसंबर को अंतरिक्ष में एक दुर्लभ खगोलीय घटना देखने को मिला था. ऐसा लग रहा था मानो बृहस्पति और शनि एक दूसरे में समा गए हों. वे एक ही चमकीले तारे की तरह दिखाई दे रहे थे, जिसे संयोजन कहा जाता है. ये घटना लगभग 400 वर्षों के बाद हुई और कोलकाता और पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में दिखाई दे रही थी, हालांकि सर्दियों के कोहरे ने आंशिक रूप से दृश्य में बाधा डाली थी.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media