राजस्थान में कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले BJP का ऐलान- लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

ABC NEWS: राजस्थान में अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच चल रहे सियासी विवाद के थमने के बीच कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र को लेकर राजनीति गर्मा गई है. राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया (Gulab Chand Kataria) ने आज कहा कि कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में उनकी पार्टी अविश्वासमत का प्रस्ताव लाएगी. इससे पहले प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Punia) ने भी मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा कि गहलोत सरकार अंदरूनी संकट से जूझ रही है. जिस तरह से गहलोत बनाम पायलट विवाद खत्म हुआ है, उसको देखते हुए लगता है कि सरकार विधानसभा में विश्वासमत का प्रस्ताव ला सकती है. बीजेपी ऐसे किसी हालात के लिए तैयार है. अगर ऐसा होता है तो बीजेपी भी विधानसभा में अविश्वासमत का प्रस्ताव लाएगी.

विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले बीजेपी की तरफ से अविश्वासमत का प्रस्ताव लाने के ऐलान से प्रदेश की सियासत एक बार फिर गर्माने के संकेत मिल रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने साफ कहा कि बीजेपी और उसके सहयोगी दल कल विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे. इससे पहले बीजेपी प्रदेश इकाई के प्रमुख सतीश पूनिया ने भी यही बयान दिया है.

इधर, राजस्थान विधानसभा सत्र की शुरुआत से पहले आज शाम कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने जा रही है. राजधानी जयपुर में सीएम गहलोत के सरकारी आवास पर आज शाम 5 बजे से यह बैठक होगी. गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के शामिल होने को लेकर भी आज सुबह से अटकलें लगाई जा रही थीं. कहा जा रहा था कि इस बैठक में बगावती तेवर अपनाने वाले विधायकों को नहीं बुलाया जाएगा. लेकिन दोपहर बाद स्थिति साफ हो गई. कांग्रेस की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया कि विधायक दल की बैठक में सीएम गहलोत और सचिन पायलट की मुलाकात होगी. इसके बाद सभी विधायकों के आने की बातें भी साफ हो गई हैं. 

बहरहाल, कांग्रेस में मचा घमासान शांत होने के बाद सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है उसे भूलकर डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है. सीएम गहलोत ने गुरुवार को एक के बाद एक कई ट्वीट करके कहा कि ‘सेव डेमोक्रेसी’ हमारी प्रायोरिटी होनी चाहिए. गहलोत ने अपने ट्वीट्स में कहा कि, ‘कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है. पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें फॉरगेट एन्ड फॉरगिव, आपस में भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है. 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media