नड्डा का कांग्रेस पर हमला, राजीव फाउंडेशन को चीन से मिले चंदे पर पूछे 10 सवाल

ABC News: चीनी दूतावास के जरिये राजीव गांधी फाउंडेशन को मिले डोनेशन के आरोपों पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज फिर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला. उन्होंने कांग्रेस से और खासतौर से राजीव गांधी फाउंडेशन से जुड़े लोगों पर सवाल उठाते हुए कहा कि निजी ट्रस्ट में विदेश में पैसा लेना गलत है, ये पैसा क्यों लिया गया? उन्होंने कहा कि कांग्रेस बताए कि 2005 से 2009 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से कितने पैसे मिले? इसके साथ ही उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि कांग्रेस पार्टी और चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी के बीच क्या संबंध है?

भाजपा अध्‍यक्ष ने कांग्रेस नेताओं से एक के बाद एक कुल 10 सवाल पूछे. भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा मैं सोनिया जी को यह कहना चाहता हूं कि कोरोना के कारण या चीन की स्थिति के कारण मूल सवालों से बचने की कोशिश नहीं करें. भारत की सेना देश की और हमारी सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम है और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है. भाजपा अध्‍यक्ष ने अगला सवाल किया कि 130 करोड़ देशवासी जानना चाहते हैं कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए क्या-क्या काम किया और किस तरह से आपने देश के विश्‍वास के साथ विश्वासघात किया है.

नड्डा ने कहा कि कुछ दिन पहले ट्वीट करके राजीव गांधी फाउंडेशन पर सवाल उठाए थे आज पी चिदंबरम कहते हैं कि फाउंडेशन पैसे लौटा देगा. देश के पूर्व वित्त मंत्री जो खुद बेल पर हों उसके द्वारा ये स्वीकारना कि देश के अहित में फाउंडेशन ने नियम की अवहेलना करते हुए फंड लिया. आज देश जानना चाहता है कि कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के बीच क्या रिश्‍ता है? दोनों के बीच हस्ताक्षरित और अहस्ताक्षरित MoU क्या है?

भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि RCEP का हिस्सा बनने की क्या जरूरत थी? चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा 1.1 बिलियन अमरीकी डॉलर से बढ़कर 36.2 बिलियन अमरीकी डॉलर कैसे हो गया? उन्‍होंने कहा कि देश की जनता इसका जवाब जानना चाहती है कि पीएम नेशनल रिलीफ फंड जो लोगों की सेवा और उनको राहत पहुंचाने के लिए है उससे 2005-08 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों जारी किया गया?

नड्डा ने बड़े आरोपों के साथ यह भी पूछा कि जनता यह जानना चाहती है कि यूपीए शासन में कई केंद्रीय मंत्रालयों, सेल, गेल, एसबीआई, अन्य पर राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा देने के लिए क्‍यों दबाव बनाया गया. तत्‍कालीन पीएम नेशनल रिलीफ फंड का ऑडिटर कौन था? इसके जवाब में नड्डा ने कहा कि ठाकुर वैद्यनाथन एंड अय्यर कंपनी ऑडिटर थी. रामेश्वर ठाकुर इसके फाउंडर थे. वो राज्य सभा के सांसद थे और चार राज्यों के राज्यपाल रहे. कई दशकों तक उसके ऑडिटर रहे. ऐसा क्‍यों.


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media