कानपुर हिंसा: कुख्यात अकील खिचड़ी की वाट्सएप चैटिंग वायरल, लिखा- शेख साहब का हुक्म है कोई पीछे न हटे

ABC NEWS: कानपुर के कुख्यात बदमाश अकील खिचड़ी का पाकिस्तानी कनेक्शन और उसके मोबाइल का वाट्सएप चैटिंग वाला स्क्रीन शाट गुरुवार को वायरल हो गया. वायरल स्क्रीन शाट में साफ लिखा है कि शेख साहब का हुक्म है कि कोई पीछे न हटे. चंद्रेश्वर हाता को निशाना बनाने की बात भी लिखी गई है. वायरल स्क्रीन शाट के बाद एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि वाकई नई सड़क उपद्रव पाकिस्तानी साजिश का नतीजा था. इस नए तथ्य के सामने आने के बाद एनआइए और एटीएस जैसी जांच एजेंसियां भी सक्रिय हो गई हैं और पुलिस से इन नए तथ्यों के बाबत जानकारी मांगी है.

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी का कहना है कि अकील खिचड़ी को लेकर कई जानकारियां सामने आई हैं. पाकिस्तानी कनेक्शन व अन्य आरोपों पर जांच पूरी होने के बाद ही कुछ पुख्ता कहा जा सकेगा. स्क्रीन शाट की भी जांच हो रही है.

पुलिस को अकील खिचड़ी के मोबाइल का वाट्सएप चैटिंग स्क्रीन शाट भी मिला है. गुरुवार को यह स्क्रीन शाट वायरल भी हो गया. इसमें लिखा है, अल बरकत मार्केट पेंचबाग आ जाना. सब लड़कों को लेकर. और झोले में रख लेना बम. दो बजे तक हर हाल में पहुंच जाना. सीधे गुड्डे भाई के फ्लैट के नीचे और वहां पहुंच के गुड्डे भाई के लड़के अंशू के नंबर पे काल कर लेना. वो नीचे आ जाएंगे. फिर सीधे चंद्रेश्वर हाता पर दौड़ पड़ना। अब कोई भी पीछे नहीं हटेगा. सुन लो कान खोलकर। शेख साहब का हुक्म है. गुड्डे भाई का फोटो दिखा दो, सब लड़कों को ताकि पहचान लें. और अगर सामान कम पड़े तो सीधे गुड्डे भाई के पास जाएं. इसके अलावा और स्क्रीन शाट भी वायरल हुआ है, जिसमें पाकिस्तानी नंबरों से वाट्सएप कालिंग की जानकारी मिल रही है. यह सभी काल दो व तीन जून की हैं.

बड़ा सवाल गुड्डे भाई कौन पुलिस के सामने बड़ा सवाल है कि गुड्डे भाई कौन है. पुलिस ने वायरल स्क्रीन शाट के आधार पर इन नाम के व्यक्ति को खोजना शुरू कर दिया है. अब बिल्डर वसी पर कसा शिकंजा, पुलिस ने बढ़ाया दबाव बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा को गिरफ्तार कर जेल भेजने के बाद पुलिस ने अब बिल्डर हाजी वसी पर शिकंजा कस दिया है. पुलिस ने दबाव बढ़ाने के लिए वसी के कई रिश्तेदारों को पूछताछ के लिए उठा लिया है. पुलिस ने कुछ ऐसा ही दबाव मुख्तार पर डाला था, जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी संभव हो सकी. मुख्तार ने भी अपने बयान में वसी द्वारा उपद्रव को फंडिंग करने की पुष्टि कर दी है. इसके बाद उस पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है. पुलिस का दावा है कि हाजी वसी के खिलाफ पुलिस को पुख्ता सबूत मिल गए हैं.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media