कानपुर की टनल होगी सबसे गहरी, लखनऊ के मुकाबले डेढ़ गुना नीचे चलेगी मेट्रो ट्रेन

ABC NEWS: कानपुर में अंडरग्राउंड मेट्रो का काम शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन के अधीन आने वाले शहरों में कानपुर में सबसे नीचे टनल बनाई जाएगी. इसके लिए रूपरेखा तैयार कर ली गई है. लखनऊ में अंडरग्राउंड के लिए जमीन में अधिकतम 15 मीटर नीचे टनल बनाई गई है, लेकिन कानपुर में यह गहराई करीब डेढ़ गुना अधिक है.

कानपुर में अंडरग्राउंड टनल के तीन अलग-अलग फेज हैं. इसमें पहला फेज चुन्नीगंज से नयागंज स्टेशन तक का है. नयागंज स्टेशन से दूसरे फेज का काम शुरू होगा जो ट्रांसपोर्ट नगर तक गया है. इसके अलावा दूसरे कारिडोर में सीएसए से डबल पुलिया तक अंडरग्राउंड का काम होना है. अंडरग्राउंड कार्य के लिए जहां मेट्रो के अधिकारी अपने कार्य में जुटे हैं, वहीं शहर के लोगों में यह उत्सुकता है कि आखिर जमीन के नीचे टनल कैसे बनाई जाएगी. कानपुर में मेट्रो के अधिकारियों को लखनऊ के मुकाबले ज्यादा गहराई में टनल बनानी होगी. यहां मेट्रो ट्रेन जमीन के अंदर करीब 22 मीटर नीचे चलेगी। यह गहराई अधिकतम होगी। अधिकारियों के मुताबिक कानपुर में टनल की सामान्य गहराई 16-17 मीटर की गहराई रहेगी, यह चुन्नीगंज से ट्रांसपोर्ट नगर स्टेशन के बीच की स्थिति है. सबसे ज्यादा गहराई सेंट्रल स्टेशन के पास रहने की उम्मीद है.

लखनऊ के मुकाबले ज्यादा गहराई होने के पीछे एक कारण यह भी है कि कानपुर में कुछ ज्यादा ही गहराई पर सरकारी पेयजल लाइनें हैं. सामान्य तौर पर पांच से छह मीटर नीचे तक पेयजल व सीवर लाइन रहती हैं, लेकिन कानपुर में ये सात से नौ मीटर तक नीचे मिल रही हैं। ये पाइप लाइन बहुत ज्यादा बड़ी भी हैं.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media