Kanpur: अब महापौर ने मेट्रो अफसरों से मांगा नगर निगम की जमीनों का मुआवजा

ABC News: एक दिन पूर्व यूपी मेट्रो रेल कॉरपोरेशन की तरफ से कराए गए निर्माण को गिराने के बाद मंगलवार को नगर निगम में महापौर की अगुवाई में नगर निगम और मेट्रो अफसरों की बैठक हुई. इस बैठक में निर्माण गिराए जाने का मुद्दा उठा, तो महापौर ने साफ किया कि यूपीएमआरसी की तरफ से जो निर्माण कराया जा रहा था, वह अवैध था. जलकल विभाग के आपत्ति जाहिर करने के बावजूद निर्माण नहीं रोका गया. यही नहीं, महापौर ने अब यूपीएमआरसी से नगर निगम की अधिग्रहीत जमीन का मुआवजा भी मांग लिया है. नगर निगम अफसरों की तरफ से करीब 106 करोड़ रूपए के मुआवजे का विवरण तैयार किया गया है.

नगर​ निगम समिति कक्ष में हुई बैठक में महापौर प्रमिला पांडेय ने कहा कि मेट्रो की तरफ से जो निर्माण कराए गए थे, उसमें नींव नहीं भराई गई थी. इससे वह कभी भी गिर सकते थे. यही नहीं, मेट्रो की तरफ से पुरानी दीवार के आगे से भी निर्माण करा लिया गया था. महापौर कार्यालय से जारी विज्ञप्ति में दावा किया गया कि इस बैठक में यूपीएमआरसी के एसडीएम आजय आनंद वर्मा ने यह माना कि संबंधित निर्माण में मेट्रो की तरफ से गलती हुई है. बैठक में महापौर ने इस बात पर भी नाराजगी जताई कि यूपीएमआरसी की तरफ से ​कोई भी जानकारी नहीं दी जाती है. तय किया गया कि हर माह कोआर्डिेशन बैठक की जाएगी. बैठक में महापौर ने लखनऊ का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर यूपीएमआरसी ने जिन जमीनों को अधिग्रहीत किया, उसका वहां के नगर निगम को मुआवजा दिया गया. जबकि कानपुर में ऐसा नहीं हो रहा है. बुधवार से नगर निगम की जमीनों का सर्वे करने पर यहां सहमति बनी. महापौर ने कहा कि जिन जमीनों पर पिलर है, उसका भी मुआवजा दिया जाता है. बृजेंद्र स्वरूप पार्क का उदाहरण देते हुए महापौर बोलीं कि यहां पर पूर्व मेें अंडरग्राउंड निर्माण का प्रस्ताव था लेकिन अब पिलर बनाया जा रहा है. मेट्रो तो पिलर को पैसा देगा लेकिन नगर निगम का पार्क बरबाद हो रहा है. इस पर मेट्रो अफसरों ने पूरा विवरण शासन में रखने की बात करते हुए कहा कि वहां से जो गाइडलाइन मिलेगी, उसी के अनुरूप कार्य होगा. बैठक में नगर आयुक्त ने नगर​ निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेट्रो की तरफ से उपयोग में लाई जा रही संपत्ति का सर्वे कर मुआवजे का विवरण तैयार करें. इसके अलावा तय किया गया कि हर मंगलवार को नगर निगम और मेट्रो अफसरों के बीच बैठक होगी.

मुआवजे का विवरण
स्थल का नाम                                                                          धनराशि
बाल भवन से शेल्टर होम की भूमि                                            1,24,36200.00
एस0बी0आई0 एटीएम से श्यामा प्रसाद मुखर्जी पार्क                     3,29,28000.00
नगर आयुक्त आवास से के0डी0ए0 नर्सरी                                     2,28,06000.00
तुलसी उपवन                                                                        23,99,04000.00
बी0एस0पार्क बेनाझाबर रोड से पालिका स्टेडियम                       34,59,75,000.00
पालिका स्टेडियम                                                                  26,25,00,000.00
चुन्नीगंज                                                                             3,95,64,000.00
नवीन मार्केट                                                                          7,55,00,600.00
कानपुर नगर निगम की विभिन्न स्थलों पर स्ट्रीट लाईट                 2,50,34,791.00
आईटीएमएस में स्थापित यातायात संकेतक                                12,51,000.00
शेल्टर होम का पुर्ननिर्माण                                                         25,00,000.00
10 सीटेड शौचालय का निर्माण तुलसी उपवन के बाहर                   13,52,000.00
कानपुर नगर निगम की परि-सम्पत्तियों पर लगे वृक्षों हेतु                 1,47,012.00


रिपोर्ट: सुनील तिवारी

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media