Kanpur: चकेरी एयरपोर्ट पर लैंडिंग के लिए हवा में चक्कर नहीं काटेंगी फ्लाइट, हुआ बदलाव

ABC News: चकेरी एयरपोर्ट पर दूसरे राज्यों से आने वाली फ्लाइटें बेवजह हवा में चक्कर नहीं लगाएंगी. वजह थी कि दोपहर 12 से शाम 4 बजे के बीच पांच फ्लाइटें थीं. सिंगल रन-वे से एक के बाद दूसरी फ्लाइट नहीं उतर पाती थी. दो फ्लाइटों में आधे घंटे से कम का अंतर था. एयरपोर्ट अथॉरिटी ने विमान कंपनियों की संस्तुति पर मुंबई की दोनों फ्लाइटों के समय में आंशिक बदलाव किया. हैदराबाद फ्लाइट को फिलहाल 31 दिसंबर-2021 तक रद कर दिया है.

बीते 1 नवंबर को इंडिगो ने कानपुर से तीन शहरों (बेंगलुरु, हैदराबाद और मुंबई) की फ्लाइट शुरू की. इसके पहले स्पाइस जेट की कानपुर से ही दिल्ली और मुंबई की फ्लाइटें चल रही थीं. स्पाइस जेट की अहमदाबाद की फ्लाइट बंद हो चुकी थी. स्पाइस जेट की दोनों फ्लाइटों के चालू रहने के दौरान जैसे इंडिगो का परिचालन शुरू हुआ तो 5 फ्लाइटों से उनकी लैंडिंग में दिक्कतें शुरू हो गईं, क्योंकि कानपुर एयरपोर्ट पर सिंगल रन-वे है. इससे एक समय में सिर्फ एक ही फ्लाइट उतर पाती है. 30 नवंबर तक 9 बार ऐसा हुआ कि किसी न किसी फ्लाइट को आधे से पौन घंटे तक हवा में चक्कर लगाना पड़ा. इस पर पहले हैदराबाद की फ्लाइट को 15 दिसंबर तक निरस्त किया गया. अफसरों ने बताया कि इंडिगो की मुंबई से कानपुर आने वाली फ्लाइट अब दिन में 3 बजे आएगी. आधे घंटे बाद दिन में 3:30 बजे जाएगी. पहले यह फ्लाइट 02:55 पर आती थी और 3:25 बजे जाती थी. ऐसे ही स्पाइस जेट की फ्लाइट कानपुर से अब शाम 4:30 बजे मुंबई को उड़ान भरेगी, जबकि अभी तक यह फ्लाइट शाम 4:10 बजे उड़ती थी. दोनों फ्लाइटों के पहले इंडिगो की हैदराबाद की फ्लाइट चलती थी. इससे आए दिन कोई न कोई फ्लाइट आउट साइड या फिर हवा में चक्कर लगाती थी. एयरपोर्ट अथॉरिटी पुरानी बिल्डिंग को अब पोर्टिको साइड विस्तार देगा. रन-वे साइड के हिस्से को सिकोड़ेगा. रन-वे साइड पुरानी बिल्डिंग को कम करने का काम शुरू हो गया है. पोर्टिको साइड बिल्डिंग आठ फुट खिसक आएगी. गेट के सामने बने रैंप तक अब बिल्डिंग हो जाएगी तो रन-वे साइड लगे शीशे आठ फुट अंदर खिसक आएंगे.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media