Kanpur: पिता ही निकला बेटे और बहू का कातिल, महज 4 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा

ABC News: बजरिया थाना क्षेत्र के रामबाग में घर के अंदर पति पत्नी की गला रेत कर हत्या के मामले में जिस बात पर शक किया जा रहा था, वह सही निकला. कातिल कोई और नहीं बल्कि मृतक का पिता निकला. घर के अंदर परिवार के सदस्य और सात किरायेदार परिवार के बीच छिपे वारदात को अंजाम देने वाला बुजुर्ग पिता पुलिस की नजरों से बच नहीं सका. पुलिस ने बेंजाडीन टेस्ट के बाद जब पूछताछ की तो वो टूट गया और हत्या की हकीकत बयां कर दी.

बजरिया थाना क्षेत्र के रामबाग में एक मकान में दीप तिवारी परिवार के साथ रह रहे हैं और करीब सात किरायेदार भी परिवार के साथ रहते हैं. गुरुवार की सुबह उनके 27 वर्षीय बेटे शिवम और उसकी 25 वर्षीय पत्नी जूली का शव कमरे में रक्तरंजित पड़ा होने की सूचना पुलिस को मिली. पुलिस जब उनके घर पहुंची तो हत्या की जानकारी होते ही किरायेदारों और पड़ोसियों की भीड़ एकत्र हो गई. एसीपी आनंद प्रकाश तिवारी ने भी मौके पर पहुंचकर जांच की और फारेंसिक टीम बुलाकर पड़ताल शुरू की आरोपी पिता दहाड़ मारकर रोता रहा और पुलिस को गुमराह करता रहा. हालांकि, पुलिस ने सख्ती की तो 4 घंटे में आरोपी पिता टूट गया. उसने बेटे-बहू की हत्या की बात कबूल कर ली. वारदात के वक्त घर में लड़के के पिता और उसका एक छोटा भाई था. पुलिस ने छानबीन के दौरान सबसे पहले पता लगाना शुरू किया कि फोन कॉल किसने की थी. वहीं पूछताछ में सामने आया कि शिवम तिवारी अपने परिवार के साथ रहता था. मकान में परिवार में पिता, भाई व अन्य सदस्य और सात किराएदार परिवार रहते हैं. रात में मेन गेट बंद होने के बाद सुबह ही खुलता है और मेन गेट के अलावा अंदर आने जाने का कोई दूसरा रास्ता या दरवाजा नहीं है.

मेन गेट भी पूरी रात बंद और किसी भी किरायेदार ने रात उसके खुलने की पुष्टि नहीं की. इस बात पर पुलिस को शक हुआ कि हत्या की वारदात को अंजाम देने वाला घर के अंदर ही है और पुलिस ने किसी को भी घर से बाहर न निकलने की हिदायत देकर जांच शुरू कर दी. पुलिस के पहुंचने के बाद करीब चार घंटे की जांच में आरोपित बुजुर्ग पिता की हकीकत सामने आ गई. पुलिस ने घर के अंदर मौजूद सभी लोगों का बेंजाडीन टेस्ट कराया तो पिता और भाई के हाथ में खून के निशान मिलने की पुष्टि हुई. पिता दीप तिवारी के कपड़ों पर भी खून की छीटें मिली, कड़ाई से पूछताछ में बुजुर्ग पिता दीप तिवारी टूट गया और हत्या की हकीकत बयां की. उसने बेटे और बहू की हत्या की बात कबूल कर ली. बताया जाता है कि 5 महीने पहले यानी दिसंबर 2021 में शिवा तिवारी ने दर्शनपुरवा की रहने वाली जूली राजपूत से लव मैरिज की थी. दोनों ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शादी की थी. शिवा के परिवार वाले इस शादी के खिलाफ थे. वह शामिल भी नहीं हुए थे, जबकि लड़की का परिवार दोनों की शादी के लिए तैयार था.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media