ISIS ने ली काबुल में गुरुद्वारे पर हमले की जिम्मेदारी, बोला- ये पैगंबर के अपमान का बदला

ABC News: अफगानिस्तान में गुरुद्वारे पर हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ISIS ने ली है. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, ISIS ने इसे पैगंबर मोहम्मद के ‘अपमान’ का बदला लेने के लिए किया गया हमला करार दिया है. अमाक साइट पर पोस्ट किए गए मैसेज में ISIS ने लिखा कि उसने हिंदुओं, सिखों और “धर्मविरोधियों” को निशाना बनाया. उसका एक लड़ाका गार्ड को मारने के बाद अंदर घुस गया और मशीन गन से गोलियां बरसाईं और हथगोले फेंके. बता दें कि इस हमले में दो लोगों की मौत हो गई थी और कम से कम सात अन्य घायल हो गए थे.

गुरुद्वारे के एक अधिकारी गुरनाम सिंह के हवाले से रॉयटर्स ने बताया कि हमले के वक्त करीब 30 लोग अंदर थे. हमले में एक श्रद्धालु की मौत हो गई एक तालिबान लड़ाके को सुरक्षाबलों ने मार गिराया. तालिबान सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक, हमलावर एक कार में विस्फोटक भरकर लाए थे लेकिन टारगेट पर पहुंचने से पहले ही इसमें धमाका हो गया. अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल नफी ताकोर ने बताया कि हमलावरों ने गुरुद्वारे में कम से कम एक ग्रेनेड फेंका, जिससे वहां आग लग गई. यह हमला ऐसे समय हुआ है, जब पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी को लेकर बीजेपी अपनी राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पहले ही सस्पेंड कर चुकी है है और दिल्ली मीडिया प्रभारी नवीन जिंदल को पार्टी से निष्कासित किया जा चुका है. इस मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन के बीच कई आतंकी संगठनों ने हमलों की धमकी दी थी. तालिबान के सत्ता में लौटने के बाद वैसे तो पूरे अफगानिस्तान में बम धमाकों की संख्या में कमी आई है, लेकिन हाल के महीनों में कई हमलों ने देश को झकझोर कर रख दिया है. इनमें से कई की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है. आईएसआईएस सत्ताधारी तालिबान की तरह ही सुन्नी इस्लामी समूह है, लेकिन दोनों वैचारिक आधार पर अलग हैं और एक दूसरे के कट्टर दुश्मन माने जाते हैं.एएफपी के मुताबिक, काबुल के गुरुद्वारे में ये हमला भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अफगानिस्तान यात्रा के बाद हुआ है. ये दल अफगानिस्तान को मानवीय सहायता पहुंचाने पर चर्चा के लिए वहां गया था. अफगान और भारतीय मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि इस दौरान तालिबान अधिकारियों के साथ भारतीय दूतावास को फिर से खोलने की संभावना पर भी चर्चा हुई. पिछले साल अगस्त में तालिबान के सत्ता में आने के बाद इन्हें बंद कर दिया गया था.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media