चंबल में शुरू हुई विदेशी परिंदों की आमद, Wild Life शौकीनों के लिए है परफेक्ट जगह

ABC News: अगर आप काफी वक्त से फैमिली के साथ घूमने-फिरने की प्लानिंग कर रहे हैं लेकिन बजट ज्यादा होने की वजह इसे टालते आ रहे हैं तो आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने वाले हैं जहां जाने के लिए आपको बहुत ज्यादा पैसे खर्च करने की नहीं है जरूरत. साथ ही इस जगह पर आकर फैमिली का हर एक सदस्य एंजॉय कर पाएगा इसकी गारंटी है. ये जगह है चंबल, जहां इन दिनों प्रवासी पक्षियों का मेला लगा हुआ है. मेले से मतलब है, सर्दियां आते ही चंबल नदी व अन्य वेटलैंड्स के आसपास दूर-दूर से पक्षी आते हैं और पूरी सर्दियों तक यहीं बने रहते हैं. तो ये जगह वाइल्ड लाइफ शौकीनों के लिए भी एकदम परफेक्ट है.


सर्दी की शुरूआत होते ही ठंडे इलाकों से हर साल हजारों की तादाद में पक्षी चंबल नदी किनारे आते हैं. कई हजार किलोमीटर की दूरी तय करके विदेशी साइबेरियन और फ्लेमिंगो पक्षी चंबल सेंचुरी में अपना घर बनाते हैं. जहां का नजारा देखने लायक होता है. नवंबर मध्य से फरवरी अंत तक बड़ी तादाद में चंबल नदी के किनारे कई तरह के दुर्लभ पक्षियों का आसानी से देखा जा सकता है. यहां का मौसम उनके प्रजनन के अनुकूल होता है. गर्मी आने से पहले ये पक्षी अपने बच्चों के साथ वापस लौट जाते हैं. हिमालय, मलेशिया, साइबेरिया, रूस, यूरोपियन देशों से पक्षी आते हैं. इन दिनों हिमालय और यूरोपीय देशों से पक्षी चंबल सेंचुरी पहुंच चुके हैं. इन देशों में बर्फ पड़ने से पक्षियों के सामने प्रजनन व खाने-पीने की समस्या आती है. जिसके कारण ये चंबल क्षेत्र में आ जाते हैं. साइबेरियन पक्षी के अलावा रूडी शेलडक, पेंटेड स्टार्क, विसलिंग टील, ब्लैक आइबिस, बार हेडेड गीज, ब्लैक नेक्ड स्टार्क, पेलेसिंस गल, टेल टिंगो, कार्बोनेट आदि पक्षियों का आगमन शुरू हो गया है. दिसंबर शुरू होते-होते हजारों की संख्या में ये पक्षी नदी किनारे डेरा डमा लेते हैं. पिछले साल लगभग पांच हजार पक्षी आए थे इस साल रिकार्ड तोड़ पक्षी आने की संभावना है क्योंकि इस साल सर्दी ज्यादा पड़ने की संभावना जताई जा रही है. ठंडे इलाकों में बर्फबारी शुरू हो चुकी है. इससे पक्षी प्रेमी भी काफी उत्साहित हैं.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media