डीएम ने 5वीं के छात्रों से पूछा यूपी के CM का नाम, मिला हैरान करने वाला जवाब, वीडियो वायरल

Spread the love

ABC NEWS: उत्तर प्रदेश की विधानसभा में पिछले दिनों ही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और विधायक अखिलेश यादव ने कहा था कि जब वह यूपी के सीएम थे और वह एक स्कूल में गए,उन्होंने बच्चों से पूछा कि क्या वह उन्हें जानते हैं तो बच्चों ने उनका नाम राहुल गांधी बताया. असल में अखिलेश यादव सरकारी स्कूलों की स्थिति को बता रहे थे. लेकिन ऐसा ही एक मामला फिर सामने आया है. जब यूपी के बांदा जिले के डीएम ने स्कूल का निरीक्षण किया और एक बच्चे से राज्य के सीएम का नाम पूछा तो उन्होंने जबाव दिया नरेन्द्र मोदी. बच्चों के इस जबाव को सुनकर डीएम भौंचक रह गए.हालांकि बच्चे का जवाब सुनकर डीएम भी हंस पड़े. लेकिन बच्चे के जवाब ने सरकारी स्कूलों की पोल खोल दी.

जानकारी के मुताबिक ये मामला मंगलवार का है और बांदा के डीएम अनुराग पटेल औचक निरीक्षण के लिए नरैनी तहसील क्षेत्र के तुर्रा में स्थित प्राथमिक विद्यालय पहुंचे. पहले तो डीएम स्कूल की हालत पर नाराज हुए और इसके बाद उन्होंने कक्षा पांच के बच्चों से मुख्यमंत्री का नाम पूछा तो बड़ा ही चौंकाने वाला जवाब मिला. बच्चों ने बताया कि राज्य के सीएम का नाम नरेंद्र मोदी है.

यूपी के प्राइमरी स्कूलों की हालत कैसी है, उसका बखान करने के लिए ये वीडियो काफी है. बांदा के डीएम ने जब बच्चों से पूछा कि यूपी का मुख्यमंत्री कौन हैं, तो उन्होंने कहा- पीएम मोदी. ये हालात सिर्फ बांदा के नहीं है, बल्कि पूरे प्रदेश में प्राइमरी स्कूलों का यही हाल है.

खास बात ये है कि डीएम को लगा कि शायद बच्चे कंफ्यूज हो रहे हैं और उन्होंने अपने ही सवाल को दो बार दोहराया तो भी बच्चों ने वही जवाव दिया. इसके साथ ही बच्चों का जब डीएम ने हिंदी का टेस्ट लिया तो एक ही बच्चा ठीक से जवाब दे सका. बताया जा रहा है कि 27 बच्चों को जब डीएम ने लिखने को दिया कि ‘मैं शाम को जल्दी सोता हूं’तो महज एक बच्चा ही इसका जवाब दे सका. डीएम के निरीक्षण के दौरान शिक्षामित्र राजरानी मौजूद नहीं थी, जिसके बाद उनका एक दिन का मानदेय रोककर स्पष्टीकरण मांगा गया है.

डीएम ने दिए निर्देश

डीएम के निरीक्षण के बाद उन्होंने स्कूल के प्रधानाचार्य और अध्यापकों को निर्देश दिए और कहा कि अगर स्कूल की गुणवत्ता में सुधार नहीं हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी. डीएम ने प्रधानाध्यापक शिवपूजन अनुरागी,सहायक अध्यापक रागिनी गौड़,सुधा त्रिपाठी, प्रज्ञा देवी और शिक्षामित्र मंजुला देवी को फटकार लगाई गई और स्कूल की स्थिति को सुधारने को कहा.

197 छात्रों में से 118 ही थे

उपस्थित डीएम ने छात्रों की उपस्थिति पंजीकरण को जांचा 197 में से 118 बच्चे ही स्कूल में मिले. जिसके बाद उन्होंने स्कूल के अध्यापकों से कहा कि वह बच्चों की उपस्थिति को स्कूल में बढ़ाएं.

डीएम ने एक घंटे तक बच्चों को पढ़ाया

जानकारी के मुताबिक डीएम ने एक घंटे तक स्कूल के बच्चों को बढ़ाया और कक्षा 5 के छात्रों शिवशंकर, काजल, अनीता, प्रिया और गीता से पढ़ाई को लेकर सवाल पूछे. बताया जा रहा है कि जब डीएम ने राष्ट्रपति का नाम पूछा तो बच्चे इसका भी जवाब नहीं दे सके.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media