सांढ़ के टकराने से कानपुर देहात में दिल्ली-हावड़ा रूट आठ घंटे बाधित,आधी रात तक फंसीं रहीं 30 ट्रेनें

ABC NEWS: कानपुर देहात के झींझक रेलवे स्टेशन के पास महोबाधी एक्सप्रेस से टकराए सांड़ की टक्कर से ओएचई लाइन टूटने पर दिल्ली-हावड़ा डाउन ट्रैक करीब आठ घंटे बाद बहाल हाे सका. इस दौरान तीस से ज्यादा ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गईं, वहीं कानपुर रेलवे स्टेशन पर भी ट्रेनें विलंबित होने से अफरा तफरी का माहौल रहा और यात्री प्लेटफार्म पर डेरा जमाए रहे. बुधवार शाम 5:10 बजे बाधित हुआ रेलवे ट्रैक रात एक बजकर 27 मिनट पर बहाल हुआ और झींझक रेलवे स्टेशन से सबसे पहले विक्रमशिला एक्सप्रेस को रवाना किया गया. इस दौरान महाबोधि, विक्रमशिला व बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस समेत 30 से ज्यादा ट्रेनें खड़ी रहीं.

कानपुर सेंट्रल स्टेशन नहीं पहुंची एक दर्जन से अधिक ट्रेनें

झीझंक में ओएचइ लाइन टूटने से ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गईं. दिल्ली से आने वाली ट्रेनों के सेंट्रल स्टेशन न पहुंचने से यात्री परेशान रहे. ओएचइ लाइन को बनाने का कार्य रात तक चलता रहा. इस बीच यात्री ट्रेनों का इंतजार करते रहे. दिल्ली से आने वाली बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, रिवर्स शताब्दी एक्सप्रेस, रांची राजधानी, डिब्रूगढ़ राजधानी, सियालदह राजधानी, हावड़ा राजधानी, भुवनेश्वर राजधानी, पटना राजधानी, संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस, पूर्वा एक्सप्रेस, सहरसा एक्सप्रेस, शिवगंगा एक्सप्रेस, वैशाली एक्सप्रेस, मगध एक्सप्रेस, स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस, गोरखधाम एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें प्रभावित रहीं.

यह हुई घटना

दिल्ली के आनंद विहार से बिहार जा रही महाबोधि एक्सप्रेस (डाउन) बुधवार शाम 5:10 बजे नासरसेड़ा फाटक के पास पहुंची तो ट्रैक पर आया एक सांड़ इंजन से टकरा गया. टक्कर से सांड़ हवा में उछलकर 5.80 मीटर ऊंची ओएचई लाइन पोल के कैंटिलिवर से जा टकराया. इससे पोल तिरछा हो गया जबकि छह पोल के तार टूट गए. लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोकी. तेज आवाज होने से यात्रियों में अफरातफरी मच गई. ट्रेन रुकते ही सभी तेजी से उतरकर भागे. पास में रेलवे लाइन किनारे खाली स्थान और दूसरे ट्रैक पर खड़े हो गए. लोको पायलट ने इसकी सूचना झींझक स्टेशन और कंट्रोल रूम को दी. वहां पहुंचे ओएचई स्टाफ ने मरम्मत शुरू की लेकिन सफलता नहीं मिली. विद्युत आपूर्ति ठप होने से झींझक स्टेशन पर बिहार संपर्क क्रांति व झींझक रेलवे फाटक के पास विक्रमशिला एक्सप्रेस (डाउन) खड़ी हो गई.

हादसे के बाद रोकी गईं ट्रेनें

ओएचई लाइन से आपूर्ति बाधित होते ही रेलवे ट्रैक पर ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गईं. कंचौसी, औरैया और इटावा तक ट्रेन संचालन बाधित हो गया और 30 से ज्यादा ट्रेनें फंसी रहीं. रात 1:15 बजे मरम्मत पूरी हो गई और 1:27 बजे विक्रमशिला एक्सप्रेस को झींझक स्टेशन से रवाना किया गया. झींझक स्टेशन मास्टर सर्वेश सिंह ने बताया कि ओएचई लाइन टूटने से ट्रेनों का संचालन बाधित रहा.

 

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media