PGI लखनऊ में होगा देश का सबसे बड़ा गुर्दा प्रत्यारोपण केंद्र, जानें इसके बारे में

ABC News: संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ (एसजीपीजीआइ) देश का सबसे बड़ा गुर्दा प्रत्यारोपण केंद्र बनने जा रहा है. यहां 340 बेड पर किडनी मरीजों को भर्ती करने और उनके प्रत्यारोपण एवं डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध होगी. अभी तक पूरे देश में इतनी अधिक बेड संख्या वाला गुर्दा प्रत्यारोपण केंद्र कहीं भी नहीं है. संस्थान में इसके लिए नया भवन बनकर तैयार हो गया है और अब यहां पर सभी जरूरी यूनिटें और मशीनें लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है. डाक्टरों ने नवंबर से यहां पर गुर्दा मरीजों को भर्ती करने और प्रत्यारोपण की तैयारी भी शुरू कर दी है. इस केंद्र के शुरू होने का फायदा उप्र के अतिरिक्त बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश इत्यादि राज्यों से आने वाले किडनी रोगियों को भी मिलेगा.

संस्थान में 110 डायलिसिस यूनिटें लगाई जाएंगी. इससे गंभीर रोगियों को डायलिसिस कराना भी आसान होगा. अभी मरीजों को इसके लिए अस्पताल दर अस्पताल भटकना पड़ता है. निजी अस्पतालों में डायलिसिस कई गुना महंगी होती है. यहां अधिक लोगों को कम खर्च में प्रत्यारोपण का लाभ मिलेगा. पीजीआइ में प्रत्यारोपण का खर्च तीन से चार लाख रुपये आता है जबकि बाहर निजी अस्पतालों में तीन गुना से अधिक पैसे लगते हैं. डाक्टरों के अनुसार यहां गंभीर मरीजों की जान बचाने के लिए करीब 50 वेंटिलेटर की भी सुविधा होगी. गुर्दा प्रत्यारोपण भवन में नवंबर से मरीजों को भर्ती करने, डायलिसिस करने और प्रत्यारोपण की सुविधाएं शुरू कर दी जाएंगी. इस केंद्र पर 500 से अधिक डाक्टर व स्टाफ की टीम तैनात होगी. बताया जा रहा है कि इमरजेंसी मेडिसिन, ट्रांसप्लांट सर्जरी और नेफ्रो सर्जरी तीनों विभाग अब एक ही भवन में आ जाएंगे. संस्थान में गुर्दा रोगों से जुड़ी सभी तरह की जांच सुविधाएं भी मौजूद होंगी. आपरेशन अत्याधुनिक तरीके से किए जाएंगे.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media