ऑडियो टेप जारी कर बरादर बोला- अभी मैं जिंदा हूं, मौत की खबर को बताया फेक

ABC NEWS: सोशल मीडिया पर फैली अपनी मौत की खबरों को तालिबान नेता मुल्ला अब्दुल गनी बरादर (Mullah Abdul Ghani Baradar) ने बकवास बताया है. तालिबान की तरफ से जारी किए गए ऑडियो संदेश में बरादर ने कहा है कि वो बिल्कुल स्वस्थ हैं और घायल नहीं हुए हैं. इस संदेश को तालिबान प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने ट्वीट किया है. दरअसल कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि तालिबान के भीतर जबरदस्त गुटबाजी हो रही है और इसी गुटबाजी की हिंसा में बरादर घायल हो गए. हालांकि तालिबान द्वारा पोस्ट किए गए ऑडियो संदेश की अभी तक पुष्टि नहीं हो सकी है.

तालिबान के कतर दफ्तर के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने ट्वीट किया है- अफगानिस्तान इस्लामिक अमीरात के डिप्टी प्रधानमंत्री मुल्ला बरादर अखुंद ने संदेश में घायल अथवा मारे जाने की आशंकाओं को खारिज किया है. उन्होंने कहा है कि ये झूठी और निराधार खबरें हैं.

तालिबान सरकार में नंबर दो
बता दें कि बीते सप्ताह तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की थी जिसमें बरादर को नंबर दो की पोजीशन दी गई थी. कुछ दिनों पहले तक अब्दुल गनी बरादर का नाम सरकार के शीर्ष लीडर के तौर पर देखा जा रहा था. लेकिन अब नई सरकार में वो नंबर दो की हैसियत में हैं.

क्यों मुल्ला बरादर का हुआ ‘डिमोशन’
बरादर के डिमोशन को लेकर कहा जा रहा है कि इसमें पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI का बड़ा रोल हो सकता है. दरअसल पंजशीर को हैंडल करने को लेकर हक्कानी और बरादर गुट में विवाद हो गया था. माना जा रहा है कि पाकिस्तान के प्यारे हक्कानी से विवाद भी बरादर के डिमोशन की वजह हो सकती है. ISI चीफ फैज हामिद की काबुल यात्रा में भी नई सरकार की घोषणा का राज छुपा हो सकता है. यही वजह है कि बरादर की जगह मुल्ला अखुंद को सरकार के मुखिया के तौर पर सबसे उपयुक्त माना गया.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media