आजम खान की अब नई मुसीबत , MP-MLA कोर्ट ने जारी किया नेशनल बिल्डिंग कोड मामले में वारंट

Spread the love

ABC NEWS: समाजवादी पार्टी के रामपुर विधायक आजम खान की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. इस बीच नेशनल बिल्डिंग कोड (National Building Code) का गलत सर्टिफिकेट देने के मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट ने सपा विधायक को दोषी माना है. इसके साथ कोर्ट ने आजम खान के खिलाफ वारंट जारी कर दिया है. दरअसल आजम परिवार ने यतीमखाने की जमीन पर न सिर्फ रामपुर पब्लिक स्कूल बनाया बल्कि एक स्कूल के कागजों पर तीन स्कूल की मान्यता भी ली थी. यही नहीं, नेशनल बिल्डिंग कोड का सर्टिफिकेट भी गलत पेश किया था.

एमपी-एमएलए कोर्ट के वारंट के बाद आजम खान का फिलहाल सीतापुर जेल से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. दरअसल 2020 में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था. इसके बाद जांच के बाद आजम खान की पत्‍नी तंजीन फात्मा के खिलाफ 420 में मुकदमा दर्ज हुआ. यही नहीं, इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट लगा दी गयी थी, लेकिन बाद में भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने इसकी दोबारा जांच की मांग की थी. दोबारा जांच में नेशनल बिल्डिंग कोड का सर्टिफिकेट गलत निकला है. वहीं, नेशनल बिल्डिंग कोड का सर्टिफिकेट जांचने के बाद जारी करने वाले अधिकारी ने कहा है कि हमने यह सर्टिफिकेट जारी नहीं किया है. इस मामले में कोर्ट ने आजम खान को दोषी माना है. यही नहीं, नेशनल बिल्डिंग कोड मामले में आजम खान के खिलाफ 467, 468, 471, 420 और 120 बी की धाराएं बढ़ाई गई हैं. जबकि इस मामले की शिकायत भाजपा नेता ने 2020 में की थी.

क्‍या है नेशनल बिल्डिंग कोड?
नेशनल बिल्डिंग कोड वो दस्तावेज है, जो शैक्षिक, रिहायशी समेत खतरनाक इमारतों के निर्माण के ढांचे तय करने के लिए गाइडलाइंस मुहैया कराता है. यही नहीं, कंस्ट्रक्शन की सेहत और लोगों की सुरक्षा के लिए एनबीसी की गाइडलाइंस का पालन करना जरूरी है. जबकि आजम खान ने रामपुर पब्लिक स्‍कूल की मान्‍यता के लिए नेशनल बिल्डिंग कोड का गलत सर्टिफिकेट पेश किया था.

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आजम के खिलाफ शत्रु संपत्ति से जुड़े मामले में 5 मई को करीब ढाई घंटे चली लंबी बहस के बाद दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला रिजर्व कर लिया है. इसके साथ आजम खान के खिलाफ कुल 87 आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें से 86 मामलों में उनको जमानत मिल चुकी है. जबकि नेशनल बिल्डिंग कोड मामले ने उनकी मुश्किल बढ़ा दी है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media