सरकार बनाने में सात अंक के फेर में UP के सभी सियासी दल, भाजपा संग सबसे अच्छा संयोग

ABC NEWS: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव ( Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) कार्यक्रम की घोषणा के करीब एक सप्ताह होने के साथ ही राज्य के राजनीतिक दलों को लगता है कि राज्य का सात चरण का चुनाव उनके लिए भाग्यशाली साबित होगा. यही नहीं, इससे उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वियों पर व्यापक जीत दर्ज करने में मदद मिलेगी. इसे लेकर राजनीतिक दलों ने अपने-अपने पक्ष में अलग-अलग तर्कों के साथ दावे किये हैं.

राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को सात चरणों के चुनाव में जीत की उम्मीद है. जबकि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस का मानना है कि सात चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव में किस्मत उन पर मेहरबान होगी. चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में सात चरणों में मतदान की घोषणा की है जिसकी शुरुआत 10 फरवरी से होगी. मतगणना चार अन्य राज्यों के साथ 10 मार्च को होगी. यूपी में इस बार 10 फरवरी, 14 फरवरी, 20 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, तीन मार्च और सात मार्च को मतदान होगा.

भाजपा ने कही ये बात
भाजपा के राज्यसभा सदस्य संजय सेठ ने संख्या सात के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इसे शुभ माना जाता है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘सप्त ऋषि तारामंडल, सात रंग इंद्रधनुष, सात सरगम गीत, शुभ होता है. सात अंक वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव, वर्ष 2017 विधानसभा चुनाव, वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव, सभी चुनाव सात फेस में हुए और भारतीय जनता पार्टी पूर्ण बहुमत से रही. इस बार भी 7 फेस में चुनाव हैं और भाजपा 300 पार सीट लाएगी.’

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में भी सात चरण में हुए थे
उल्लेखनीय है कि 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 11 फरवरी, 15 फरवरी, 19 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, चार मार्च और आठ मार्च को मतदान हुआ था. मतों की गिनती 11 मार्च को हुई थी. इसी तरह उत्तर प्रदेश में सात चरणों में 2019 के लोकसभा चुनाव में 11 अप्रैल, 18 अप्रैल, 23 अप्रैल, 29 अप्रैल, छह मई, 12 मई और 19 मई को मतदान हुआ था. वहीं, उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि चूंकि चुनाव पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहे हैं. भाजपा अपने शानदार प्रदर्शन को दोहराएगी, जैसा कि उसने 2017 के विधानसभा चुनावों और 2019 के लोकसभा चुनावों में किया है.

कांग्रेस ने किया ये दावा
भाजपा के दावों का खंडन करते हुए उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि राज्य में 2014 से हो रहे चुनावों में भाजपा ने सिर्फ छल करने की राजनीति की है, लेकिन राज्य के लोगों ने भी भाजपा को ‘सात समदर’ से पार फेंकने का मन बना लिया है. कांग्रेस विधानसभा चुनाव में ‘आसानी से सात समंदर पार कर जाएगी. भाजपा पर तीखा हमला करते हुए सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं को सप्ताह के सभी सातों दिन झूठ बोलने की आदत है और इसलिए वे रथ के सात घोड़ों से कोई सकारात्मक ऊर्जा खींचने की स्थिति में नहीं होंगे. उन्होंने यह भी दावा किया कि ‘सप्तऋषि’ इस बार कांग्रेस को आशीर्वाद देने जा रहे हैं.

सपा ने बताई ये वजह
समाजवादी पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष सुरेंद्र श्रीवास्तव ने कहा, ‘सात चरणों का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव इस बार समाजवादी पार्टी के लिए भाग्यशाली साबित होगा. सपा अपने गठबंधन के सात सहयोगियों के साथ लोगों को मंत्रमुग्ध कर देगी. चुनाव के अंतिम चरण का मतदान दिलचस्प रूप से सात मार्च को पड़ता है.’

वहीं, राम सेवा ट्रस्ट, प्रयागराज के संयोजक आशुतोष वार्ष्णेय ने नंबर 7 के महत्व पर कहा, ‘दूल्हा और दुल्हन अपने बंधन को मजबूत करने के लिए विवाह के दौरान अग्नि के चारों ओर सात फेरे लेते हैं. अब यह देखना बाकी है कि उत्तर प्रदेश में कौन सी पार्टी अंततः चुनावों में राज्य के लोगों के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने में सक्षम होगी. उत्तर प्रदेश विधानसभा में 403 सीटें हैं और 403 का एकल अंक योग सात है.’

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media