अखिलेश यादव का CM योगी पर हमला, बोले- बहन बेटियों के लिए UP सर्वाधिक असुरक्षित

ABC News: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला है. उन्‍होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने लॉ एंड ऑर्डर को ही बुलडोज कर दिया है. इस वक्‍त बहन बेटियों के लिए यूपी सर्वाधिक असुरक्षित प्रदेश बन गया है. साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि स्कूल, घर, थाने और अब अस्पताल में भी बलात्कार होने लगे हैं.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश को रेप स्टेट बना दिया है. वहीं, भाजपा सरकार महिलाओं के प्रति पूरी तरह असंवेदनशील साबित हो चुकी है. सपा प्रमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री विज्ञापनों में कानून व्यवस्था का झूठा प्रचार करके अब जनता को बहका नहीं सकेंगे. इसके साथ अखिलेश यादव ने कहा कि खुद मुख्यमंत्री योगी के जनपद गोरखपुर में कैंट इलाके में सरेआम महिला की चेन लूट ली गई. एक घंटे बाद उन्हीं बदमाशों ने कोतवाली में मोबाइल छीना और फरार हो गए. सच तो यह है कि भाजपा की डबल इंजन सरकार में अपराध का मीटर दुगनी रफ्तार से बढ़ रहा है, तो पुलिस थाने अराजकता के केन्द्र बन गए हैं. लूट, हत्या, अपहरण और बलात्कार के मामलों में उत्तर प्रदेश आगे जा रहा है.इसके साथ अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर में पुलिस बिना एफआईआर मां-बेटी को उठा लाई और थाने में रात में पूछताछ के बहाने प्रताड़ित किया. इसके बाद परेशान महिला में खुदकुशी कर ली. ललितपुर कांड में पुलिस को आरोपित तो जल्दी ढूंढ़े नहीं मिले, लेकिन पीड़िता से ही थाने में दुष्कर्म कर यूपी को देशभर में बदनाम कर लिया. इसके बाद अलीगढ़ में पुलिस के सिपाही ने एक नाबालिग से दुष्कर्म कर दिया. उन्‍होंने कहा कि राजधानी लखनऊ में 10 साल की एक बच्ची से दुष्कर्म सरोजनी नगर थाना क्षेत्र में किया गया,तो श्रावस्ती में दुष्कर्म का विरोध करने पर बदमाशों ने महिला की आंख फोड़ दी. वहीं, मिर्जापुर में गर्भवती महिला से दुष्कर्म हुआ.

इसके साथ अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने विकास को किनारे कर रखा है. वह नफरत और समाज को बांटने वाली गतिविधियों को बढ़ावा देने में लग गई है. सीएम को जगह-जगह जाकर भाषण देने का शौक है, वे प्रशासन पर लगाम कसने में विफल साबित हैं. यही नहीं, फर्जी मुकदमों और फर्जी एनकाउंटरों में भाजपा सरकार रिकॉर्ड बना रही है. जबकि पुलिस हिरासत में मौतों को लेकर तो राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग तक तमाम नोटिस जारी कर चुका है. इसके साथ सपा प्रमुख ने कहा कि जो सरकार पुलिस को एमएलसी और पंचायत चुनाव जीतने के लिए लगा दे उससे और क्या उम्मीद की जा सकती है? जब पुलिस से सेवा नियमावली के विरूद्ध काम कराए जाएंगे तो फिर उसकी दबंगई कैसे रोक सकेंगे? पुलिस पर बढ़ते राजनीतिक दबाव के चलते अब गम्भीर घटनाओं में भी पुलिस का रवैया ढुलमुल रहता है. साथ ही कहा कि दबंगों को सजा का डर नहीं रह गया है.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media