Kanpur में 5.70 लाख लोगों को लगेगी कोविड वैक्सीन, इस तरह की गई है तैयारियां

Spread the love

ABC News: कानपुर में भी कोरोना टीकाकरण की तैयारियों को तेज कर दिया गया है. पहले फेज में होने वाली टीकाकरण के लिए तीन चरण निर्धारित किये गए हैं. इसमें सबसे पहले मेडिकल वर्कर्स, दूसरे चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स और तीसरे चरण में 50 साल से अधिक की उम्र के लोग शामिल होंगे. इन सभी को मिलाकर कानपुर में करीब 5.70 लाख लोगों का टीकाकरण किया जाएगा. इसको लेकर कमिश्नर ने मेडिकल कॉलेज में तैयारियों का जायजा भी लिया.

कमिश्नर डॉ राजशेखर का कहना है कि पहले चरण में शासन की मंशा के अनुरूप डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिक्स सहित सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा. इसके लिए कानपुर में करीब 20 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को चिन्हित किया गया है. लगभग 18500 का डाटा फीडिंग पूरा हो चुका है. बाकी को अगले 2 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा. टीकाकरण के पहले चरण के लिए मेडिकल कॉलेज;10 केंद्रद्ध, सभी जिला अस्पताल, सभी सीएचसी, पीएचसी, कुछ निजी अस्पताल और नर्सिंग होम सहित 100 केंद्रों की पहचान की गई है. प्रत्येक केंद्र पर सफलतापूर्वक टीकाकरण करने के लिए 5 सदस्य चिकित्सा दल होगा. इसलिए कुल 500 सदस्यों की मेडिकल टीम को टीकाकरण के पहले चरण के लिए तैयार किया गया है और उनकी ट्रेनिंग भी पूर्ण कर लिया गया है. प्रत्येक केंद्र में प्रथम चरण के लिए प्रति दिन 100 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा. पंजीकृत मोबाइल फोन पर मैसेज और एक फोटो आईडी कार्ड, टीकाकरण प्राप्त करने के लिए अनिवार्य है. दूसरे चरण मेंए सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स जैसे पुलिस बल, प्रशासन कर्मचारी और अधिकारी और अन्य जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कोरोना को संभालने से संबंधित हैं, का टीकाकरण किया जाएगा, कानपुर के लिए अब तक पहचानी गई संख्या लगभग 50 हजार है.

तीसरे चरण में, 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को टीका लगाया जाएगा. इसके लिए कानपुर में पहचान संख्या 5 लाख के आसपास है. तीसरे चरण के लिए, लगभग 250 टीकाकरण स्थलों की पहचान की गई है. प्रत्येक टीकाकरण केंद्र में 3 खंड हैं. पहला खंड लाभार्थियों की पहचान और सत्यापन के लिए है. दूसरा खंड टीकाकरण कक्ष और डेटा प्रविष्टि कक्ष है. इस अभियान के लिए बनाए गए ऐप में प्रत्येक टीकाकृत व्यक्ति का डेटा ऑनलाइन दर्ज किया जाएगा. तीसरा खंड टीकाकरण प्रतीक्षालय होगा जहां टीकाकरण के बाद टीकाकरण वाले व्यक्ति को 30 मिनट के लिए डॉक्टर के निगरानी में रखा जाएगा.
आपातकालीन जीवन रक्षक दवाओं ;किट और डॉक्टरों की आवश्यक व्यवस्था पोस्ट टीकाकरण आपात स्थिति या किसी भी व्यक्ति की प्रतिक्रियाओं को संभालने के लिए टीकाकरण वेटिंग हॉल में रखी जाएगी. प्रत्येक टीकाकरण केंद्र के लिए आपातकालीन एम्बुलेंस और रेफरल अस्पताल की व्यवस्था भी की गई है.


रिपोर्टः सुनील तिवारी

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media