कोरोना के 3 टीकों को जल्द लाइसेंस दिए जाने की संभावना, संक्रमण के मामले हुए कम

Spread the love

ABC News: सरकार ने कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर मंगलवार को जानकारी देते हुए कहा कि औषधि नियामक कोविड-19 के तीन टीके पर गंभीरता से विचार-विमर्श कर रहा है. उनमें से सभी को या किसी को जल्द लाइसेंस दिए जाने की संभावना है. मंत्रालय ने कहा कि एक बार जब हमें अपने वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिल जाती है, तो हम बहुत बड़े पैमाने पर टीके का उत्पादन शुरू करेंगे. हमने पूरी तैयारी की है और वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए एक रूपरेखा भी तैयार की है. हम कम से कम समय में प्रत्येक व्यक्ति को यह टीका उपलब्ध कराएंगे.

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए आवेदन किया है. पीएम ने सभी वैक्सीन निर्माताओं और वैज्ञानिकों से बातचीत की है. मंत्रालय ने बताया कि भारत में 6 वैक्सीन क्लिनिकल ट्रायल स्टेज में है. इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए तीन करोड़ कोविड-19 टीके की पहली खेप को भंडारित करने के लिए मौजूदा शीत भंडारण की व्यवस्था पर्याप्त है.

मंत्रालय ने बताया कि सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम के तहत 2.38 लाख एएनएम टीकाकरण में हिस्सा लेती हैं, केवल 1.54 लाख एएनएम का इस्तेमाल कोविड-19 टीकाकरण के लिए होगा. उन्होनें कहा कि देश में अब तक कोविड-19 की 14.8 करोड़ से ज्यादा जांच हो चुकी है, कुल संक्रमण दर भी घटकर 6.5 प्रतिशत हुई.

मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि देश में कोविड-19 के कुल उपचाराधीन मरीजों में 54 प्रतिशत मरीज महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, दिल्ली के है. मंत्रालय ने बताया कि मध्य सितंबर के बाद से भारत में कोविड-19 के मामलों में गिरावट आ रही है जबकि कई देशों में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media