पाक ने LoC पर बरसाए गोले, उड़ी में 3 जवान शहीद, 4 नागरिकों की मौत, कई घायल

Spread the love

ABC News: भारतीय जवानों ने उत्तरी कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ को नाकाम बना दिया है. पाकिस्तान की ओर से भारतीय सीमा में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे आतंकवादियों के एक दल को भारतीय जवानों ने वापस खदेड़ दिया. जवानों की इस कार्रवाई से बौखलाए पाकिस्तान ने कुपवाड़ा, उड़ी और पुंछ में सीजफायर का उल्लंघन करते हुए भारतीय चौकियों व रिहायशी इलाकों को बनाना बनाते हुए मोर्टार शेल व गोलियां दागना शुरू कर दी. पाकिस्तान की इस गोलाबारी में उड़ी सेक्टर में दो बीएसएफ जवान शहीद हो गए जबकि तीन नागरिकों की मौत हो गई. वहीं जिला पुंछ के सब्जियां इलाके में पाक गोलाबारी में 5 लोग घायल हो गए. वहीं, भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में सात से आठ पाकिस्तानी सेना के जवानों के मारे जाने की खबर आ रही है.

अचानक से की गई इस गोलाबारी की चपेट में आने से दो जवान जिनमें बीएसएफ इंस्पेक्टर राकेश डोभाल भी शामिल थे, गंभीर रूप से घायल हो गए. दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां जख्मों का ताव न सहते हुए दोनों ने दम तोड़ दिया. इस गोलाबारी में तीन नागरिक भी मारे गए हैं. एक अन्य नागरिक की हालत गंभीर बताई जा रही है.

शहीद बीएसएफ सब इंस्पेक्टर राकेश डोभाल गंगा नगर, ऋषिकेश उत्तराखंड के रहने वाले थे. भारतीय सैनिकों ने भी संघर्ष विराम उल्लंघन का करारा जवाब दिया है. जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान की दो चौकियों को तबाह कर दिया गया है जबकि पांच पांच सैनिकों के घायल होने की भी सूचना है. हालांकि अधिकारिक तौर पर अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की गई है. शहीद हुए दूसरे जवान की अभी तक पहचार जाहिर नहीं की गई है. उड़ी सेक्टर में मारे गए लोगों की पहचान ताहिब अहमद मीर (36) पुत्र जलील अहमद मीर निवासी सुल्तान डाकी, इरशाद अहमद पुत्र करामत हुसैन निवासी सराय बांदी कमलकोट और फारूक बेगम पत्नी बशीर अहमद डार निवासी बालकोट, नसदर हुसैन पुत्र पीर हुसैन निवासी कमलकोट के रूप हुई है.

इस बीच, जिला पुंछ के सब्जियां सेक्टर में भी पाकिस्तानी सेना ने गोले दागे. इस दौरान कुछ मोर्टार सब्जियां के मुख्य बस अड्डे पर गिरे जिनकी चपेट में आने से एक मध्यम आयु वर्ग की महिला, दो पोर्टरों समेत पांच नागरिक घायल हो गए. उनकी पहचान हाजरा बेगम (50)पत्नी अब्दुल सलाम, तौसीफ अहमद और मोहम्मद रशद पुत्र मेहराज दीन निवासी सब्जियां, जबकि 183 बीएन बीएसएफ के दो पोर्टरों में मोहम्मद अफराज़ पुत्र जमान काहान और मोहम्मद इब्राहिम पुत्र ब्रह्मदीन खान निवासी सौजियन के तौर पर हुई है. सभी घायलों को मंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आपको जानकारी हो कि गोलाबारी का यह सिलसिला आज सबसे पहले उत्तरी कश्मीर में जिला कुपवाड़ा में टंगडार व करनाह सेक्टर के धानी, सदपोरा, हाजीतारा और जद्दा चौकियों व उनके आसपास स्थित नागरिक बस्तियों से शुरू हुआ. पाकिस्तानी गोलाबारी से बचने के लिए टंगडार व करनाह सेक्टर में करीब एक दर्जन परिवार अपने मकानों को छोड़ निकटवर्ती सुरक्षित इलाकों में चले गए हैें.

भारतीय जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी ठिकानों पर गोलाबारी शुरू कर दी. वहीं, भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में सात से आठ पाकिस्तानी सेना के जवानों के मारे जाने की खबर आ रही है. टंगडार और करनाह में भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई शुरू होने के चंद मिनट बाद ही पाक सैनिकों ने दो अन्य जगहों पर भी मोर्चा खाेल दिया. जिला बारामुला के उड़ी सेक्टर में भी पाकिस्तानी सैनिकों ने जंगबंदी ताेड़ भारतीय ठिकानों पर गाेलाबारी शुरु कर दी. उड़ी सेक्टर के सामने एलओसी पार हाजीपीर दर्रे में बैठे पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर ताेप और मोर्टार के गोले दागे. उड़ी में गोलाबारी शुरू होने के लगभग 20 मिनट बाद बांडीपोर जिले में एलओसी के साथ सटे गुरेज सेक्टर में भी गोलाबारी शुरु हो गई.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media