कानपुर में 2 महीने में लव जिहाद के 11 केस दर्ज हुए, ये इत्तिफाक या कोई साजिश?

Spread the love

ABC NEWS: किदवई नगर थाना क्षेत्र की रहने वाली 22 साल की लड़की 29 जून को पेपर देने के लिए लखनऊ गई थी, लेकिन वह घर नहीं लौटी. आठ अगस्त को लड़की ने फेसबुक पर एक वीडियो अपलोड करके कॉलोनी के रहने वाले मोहम्मद फैजल से शादी की बात कही. यह भी कहा कि वह अब धर्म परिवर्तन कर चुकी है. घर वालों ने लड़की को बरगलाकर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया तो वही हिंदू वाहिनी संगठन के सैकड़ों की संख्या में किदवई नगर थाना पहुंच गए और हंगामा किया.

कानपुर का यह इकलौता मामला नहीं है, जिले में बीते दो महीने में लव जिहाद के 11 मामले सामने आए हैं, जिनमें पीड़ित परिजन आरोपियों पर बरगलाकर धर्म परिवर्तन कराकर शादी करने का आरोप लगा रहे हैं. ऐसे में मामलों ने सांप्रदायिक रंग भी लिया. कुछ सामाजिक संस्थाओं ने इसे साजिश करार दिया है. शायद यही वजह है कि अब कानपुर पुलिस सक्रिय हो गई है. इन सभी मामलों की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. 8 सदस्यीय एसआईटी का प्रभारी एसपी साउथ दीपक भूकर को बनाया है.

सभी मामलों में एक बात कॉमन- धर्म परिवर्तन कराया गया
कानपुर में लव जिहाद का पहला मामला दो जुलाई को बर्रा थाने में दर्ज हुआ था. इसके बाद इसी प्रवृत्ति के 10 मामले थाना चकेरी, पनकी और कानपुर दक्षिण और थाना महाराजपुर में पंजीकृत हुआ है. सभी मामलों में धर्म परिवर्तन करके शादी करने की बात सामने आई है. पनकी थाने में दर्ज हुए मामले में पुलिस ने दो आरोपी मोहम्मद आमिर और मोहसीन को गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया है. अन्य की जांच चल रही है.

इन सवालों का जवाब तलाश रही एसआईटी

आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि एसपी साउथ दीपक भूकर एसआईटी अध्यक्ष हैं. जबकि, उनके साथ सीओ गोविंद नगर विकास पांडे, थाना प्रभारी नौबस्ता, जूही, किदवई नगर, गोविंद नगर के साथ पिंक चौकी महिला प्रभारी व दो सिपाहियों को एसआईटी में रखा गया है. इस बात की जानकारी की जा रही है कि ऐसे प्रकरणों के पीछे अगर कोई साजिश है तो इस साजिश को रचने वाले कौन-कौन लोग हैं और इन लोगों को फंडिंग कहां से हो रही है. साथ ही साथ इस बात की पड़ताल भी की जाएगी कि ऐसी घटनाओं के पीछे किसी अन्य संगठन का हाथ तो नहीं है जिसके लिए आरोपियों के बैंक खातों पर भी नजर रखी जा रही है.

कहीं न कहीं से हो रही फंडिंग

भाजपा के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह ने बताया कि कानपुर आईजी ने यदि एसआईटी गठित की है तो अच्छा है. सभी मामलों का सच सामने आना चाहिए. लड़कियों को बरगलाकर जिस तरह उनके जीवन से खेला गया है, उसका भी सच सामने आएगा. इस बात में पूर्ण सत्यता है कि जो भी युवक इन सभी घटनाक्रम में संलिप्त हैं उन्हें सभी को कहीं ना कहीं से फंडिंग जरूर हो रही है और उनका सिर्फ और सिर्फ लड़कियों को बरगला कर उनका धर्म परिवर्तन करना एक मात्र एक उद्देश्य है। ऐसे व्यक्तियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

ऐसे लोगों को नेताओं का संरक्षण प्राप्त

बजरंग दल नेता रामजी तिवारी ने कहा कि लव जिहाद एक सामान्य विषय नहीं है ये एक सोची समझी साजिश है और सोचा समझा षड्यंत्र है. जो हिंदू लड़कियों को भगाकर, फुसलाकर ले जाना फिर उनका धर्म परिवर्तन करना ये ठीक नहीं है. यह सीधा-सीधा एक षड्यंत्र है. नाम बदलकर, तिलक लगाकर, कलावा पहन वह घूमते हैं. इन लोगों को नेताओं व अन्य लोगों का संरक्षण प्राप्त है. यह लोग धर्म परिवर्तन करा कर समाज को तोड़ने का काम कर रहे हैं. बजरंग दल इसके लिए सड़कों पर संघर्ष करेगा। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें  Facebook, Twitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login- www.abcnews.media