फैशन और मानसून के बीच कहीं खतरा न बन जाए टैटू और पियरसिंग

Spread the love

 ABC News: फैशन और मौसम के बीच अगर तालमेल सही न हो तो यह आपकी जिंदगी के लिए खतरनाक हो सकता है. आजकल टैटू और पियरसिंग कराने का बड़ा ट्रेंड चल रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं बरसात के मौसम में आपका यही फैशन जान का जोखिम बन सकता है.

क्या है टैटू और पियरसिंग
जिस्म पर पर्मानेंट इंक से बने बड़े-बड़े डिजाइन को टैटू कहा जाता है. जबकि चेहरे या शरीर के अन्य हिस्सों में छेदकर पहने जाने वाली फैशनेबल बाली को पियरसिंग कहते हैं. कई लोग तो इसके दर्द से वाकिफ होने के बावजूद जीभ में पियरसिंग करवाते हैं.

बारिश में क्या है खतरा
अगर आपने हाल-फिलहाल ही टैटू या पियरसिंग करवाई है तो भूलकर भी बारिश में बाहर निकलने का जोखिम न उठाएं. इससे आप खतरनाक एलेर्जी का शिकार हो सकते हैं. टैटू वाले हिस्से पर यदि मच्छर के काटने का निशान है या आपने उस हिस्से को रगड़ा है तो भी आपको सावधान रहने की जरूरत है.

 

क्या है वजह
दरअसल टैटू बनवाते वक्त जिस पर्मानेंट इंक का इस्तेमाल किया जाता है उसमें कई तरह के कैमिकल होते हैं. यह कैमिकल कई बार तो बेवजह भी रिएक्शन कर सकते हैं, लेकिन टैटू पर चोट लगने या खुजाने जैसी स्थिति में यह इंक काफी नुकसानदायक हो सकती है.

जख्म पकने का खतरा
अक्सर गलत पियरसिंग होने की वजह से शरीर के संबंधित हिस्से में घाव बन जाता है. मॉनसून में बारिश का पानी यदि इस हिस्से पर गिरा तो धीरे-धीरे वो बड़े जख्म में तब्दील हो जाता है. ऐसे में जख्म पकने का खतरा होता है और फिर आपको बड़ी सर्जरी करवानी पड़ती है.


यह भी पढ़ें… 

मोटापे को कंट्रोल करने के लिए जिम ज्वॉइन करने से भी ज्यादा बेहतर है ये तरीका

अब रिमोट से कंट्रोल होंगे कुत्ते भी… न विश्वास हो तो ध्यान से पढ़ लें ये खबर

अगर बढ़ानी हैं बालों की खूबसूरती तो सिर पर तेल लगाते वक्त ध्यान रखें ये बातें


Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

*

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें FacebookTwitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-  ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media , Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login-  www.abcnews.media