इस मानसून सैर कीजिये भारत के इन वाटरफॉल्स की जहां पर टेंशन होगी छूमंतर

Spread the love

ABC News:  जी हां आप इस बारिश के मौसम में भारत में ही मौजूद वाटरफॉल्स का मजा जरूर लीजिये. यहां की सैर करने से यकीं मानिए सारी टेंशन भूल जायेंगे. बता दें कि भारत में ऐसी बहुत सारी नेचुरल चीजें मौजूद हैं जिनकी खूबसूरती को देखना अपने आप में एक अनूठा अनुभव होता है.वाटरफॉल्स नेचर के ही एक क्रिएशन हैं जिन्हें देखकर आपको सुकून और शान्ति मिलेगी कि आपका मन यहां रम जाएगा और जाने का दिल नही करेगा. अगर आप प्राकृति की गोद से खूबसूरत बहते पानी के धारा को देखना चाहते हैं तो इस मौसम में भारत के इन खूबसूरत वाटरफॉल्स को जरूर देखें. 

दूधसागर वाटरफाल, गोवा

गोवा में स्थित यह दूधसागर फॉल एक शानदार परतदार वाटरफॉल है, जो मनडोवी नदी से बनता है. इस फॉल की ऊंचाई 1020 फीट है। ये भारत का सबसे ऊंचा वाटरफॉल है जबकि दुनिया में इसका नाम 227वें स्थान पर आता है। इस वाटरफॉल को ‘सी ऑफ मिल्क’ यानी दूध का समुद्र भी कहा जाता है. यह वाटरफॉल ज्यादातर हरे-भरे घने जंगलों से घिरा हुआ है.

जोग वाटर फॉल, महाराष्ट्र

जोग जल प्रपात महाराष्ट्र और कर्नाटक की सीमा पर शरावती नदी पर है. यह चार छोटे-छोटे प्रपातों राजा, राकेट, रोरर और दाम ब्लाचें से मिलकर बना है. इसका जल 250 मीटर की ऊंचाई से गिरकर बड़ा सुंदर दृश्य उपस्थित करता है. इसका एक अन्य नाम जेरसप्पा भी है. जोग जल प्रपात दक्षिण भारत का एकलौता वाटर फॉल है. यह पश्चिमी घाट की पर्वतमाला में आता है.

चित्रकूट वाटरफॉल, छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में स्थित चित्रकूट वाटरफॉल देश का सबसे बड़ा और मनमोह लेने वाले झरने में से एक है.यह वाटरफॉल छत्तीसगढ़ में नियाग्रा नदी इंद्रावती में जगदलपुर के पास गिरता है.यह खूबसूरत वाटरफॉल 29 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जबकि इसकी चौड़ाई मौसम के अनुरूप बदलती रहती है.

वज़हाचल वाटर फॅाल, केरल

केरल के चालकुंडी नदी से निकला वज़हाचल वाटर फॅाल चारों तरफ से घिरें घनें वन की ऊचांई से गिरा है. यह घना जंगल केरल के प्रसिद्ध वर्षा वनों के कारण है इसमें वनस्पति की 319 प्रजातियों मौजूद हैं. इस नदी में मछली की लगभग 90 प्रजातियां हैं जिसके कारण यह नदी अपनी विविधता के लिए जानी जाती है.यह वाटर फॅाल नदी से तेज पानी गिरने का कारण फेमस है इसे देखकर मानों लगता है कि इस पानी को कही जाने की जल्दी हो.

तालकोना वाटरफॉल, आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश का यह वाटरफॉल आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में श्रीवेंकटेश्वर नेशनल पार्क में स्थित है. यह वाटरफॉल तिरुमाला पर्वतश्रेणियों के शुरुआत में है. इसकी ऊंचाई 270 फीट है.तालकोना का पानी चंदन की लड़की और जड़ी-बूटियों से घिरे होने की वजह से चिकित्सा में काम आता है.


यह भी पढ़ें…

गर्मियों की छुट्टी का लेना है फुल मजा तो घूम आइये इन जगहों पर

Summer Season में सैर कीजिये दिल्ली के नज़दीकी Hill stations की…

अगर फर्स्ट टाइम करने जा रहें हैं Foreign Trip तो ये खास बातें आपके लिए


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

खबरों से जुड़े लेटेस्ट अपडेट लगातार हासिल करने के लिए आप हमें FacebookTwitter, Instagram पर भी ज्वॉइन कर सकते हैं … Facebook-  ABC News 24 x 7 , Twitter- Abcnews.media , Instagramwww.abcnews.media

You can watch us on :  SITI-85,  DEN-157,  DIGIWAY-157


For more news you can login-  www.abcnews.media